तपकरा(नईदुनिया न्यूज)। तपकरा के लिए शनिवार का दिन खास रहा। यहां ईब नदी के तट पर प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जनचौपाल कार्यक्रम में मिली सौगात ने नागलोक के रहवासियों को उत्साहित कर दिया है। प्रदेश स्तरीय भेंट मुलाकात कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री शनिवार की दोपहर लगभग 12 बजे शासकीय हेलिकाप्टर से तपकरा पहुंचे थे। यहां कंवरधाम में भगवान श्रीकृष्ण और राधा का दर्शन करने के बाद जनचौपाल कार्यक्रम में स्थानीय लोगों से खुल कर चर्चा की। इस चर्चा के दौरान कई बार मुख्यमंत्री ने सहज भाव से लोगों से हंसी मजाक किया ताकि लोग बिना उनसे खुल कर चर्चा कर सके। इस चर्चा के दौरान कांग्रेस के युवा नेता अमर सोनी के साथअशोक ताम्रकार,सुरेश नायक,दीपक गुप्ता,इकबाल खान तपकरा के लोगों ने उप तहसील का दर्जा देने की मांग मुख्यमंत्री से की। युवाओं की इस आवाज को सुनकर,मुख्यमंत्री ने तत्काल तपकरा में नायब तहसीलदार का कोर्ट खोलने की घोषणा कर दी। इस कोर्ट के खुल जाने से तपकरा वासियों को राजस्व प्रकरण,जाति प्रमाण पत्र बनवाने जैसे आवश्यक काम के लिए फरसाबहार दौड़ लगाने से मुक्ति मिल सकेगी। यह मांग लंबे अर्से से की जा रही थी। लेकिन यह पूरी नहीं हो पा रही थी। इसी तरह जनचौपाल में तपकरा में प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले जाने की मांग रखी। इस मांग को भी मुख्यमंत्री ने तत्काल पूरी करते हुए,घोषणा कर दी। अभी आत्मानंद स्कूल में पढ़ने के लिए तपकरा के बच्चों को फरसाबहार जाना पड़ता है। जिले के घोर हाथी प्रभावित तपकरा में आत्मानंद स्कूल में पढ़ने के लिए बच्चों को 15 किलोमीटर का कष्टप्रद सफर तय करना पड़ता है। सुबह 7 बजे स्कूल पहुंचने वाले बच्चे दोपहर डेढ़ बजे तक घर वापस आ पाते हैं। इस सफर के दौरान स्वजनों को बच्चों की सुरक्षा की चिंता सताते रहती है। जाहिर है,तपकरा में आतमानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल की घोषणा,विद्यार्थियों के साथ अभिभावकों को भी सुकून देने वाला है। नागलोक के विकास में इन दो नए आयाम जोड़ने के लिए स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ संसदीय सचिव यूडी मिंज का आभार जताया है।

कोरोनाकाल से पहले चल रहा था लिंक कोर्ट

तपकरा में कोरोनाकाल से पहले संसदीय सचिव यूडी मिंज की पहल पर लिंक कोर्ट का संचालन शुरू हुआ था। संक्रमण की समस्या शुरू होने पर यह बंद हो गया है। इससे लोगों को आवश्यक कार्यो के लिए एक बार फिर तपकरा से फरसाबहार की दूरी तय करनी पड़ रही थी। मुख्यमंत्री द्वारा उप तहसील की घोषणा हो जाने से एक बार फिर राहत की उम्मीद बढ़ी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close