पत्थलगांव। नईदुनिया न्यूज। केरल में कांग्रेसियों द्वारा कथित रूप से बछड़े की हत्या करने के विरोध में भाजयुमो ने राहुल गांधी का पुतला दहन किया। हालांकि प्रशासन इसे लेकर पहले ही सजग था और पुतले को जलने से पहले ही छीन लिया गया। भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने घटना के विरोध में जमकर नारेबाजी की।

केंद्र सरकार द्वारा पशु क्रूरता निवारण अधिनियम की धाराओं में बदलाव कर बूचड़खानों के लिए मवेशियों की खरीद बिक्री को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया है। कांग्रेसियों द्वारा कथित तौर पर केरल में बछड़े की सरेआम हत्या कर विरोध जताया था। इसे लेकर देश भर के हिंदू संगठनों में विरोध के स्वर फूट पड़े हैं वहीं भाजपा द्वारा भी इसके विरोध में जगह-जगह प्रदर्शन किया जा रहा है। मंगलवार को भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने इंदिरा चौक पर राहुल गांधी का पुतला फूंका। भाजयुमो मंडल अध्यक्ष अवधेश गुप्ता की अगुवाई में महामंत्री राहुल अग्रवाल, जयपाल सिंह, विवेक तिवारी, सुनील गर्ग, कातू अग्रवाल, सुजीत गुप्ता, विकास जैन, धीरज शर्मा, कैलाश यादव, जागेश्वर यादव समेत अन्य भाजयुमो कार्यकर्ता यहां इकट्ठा हुए और राहुल गांधी और कांग्रेस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उधर भाजयुमो के प्रदर्शन को लेकर प्रशासन पहले से ही सतर्क था। तहसीलदार मायानंद चंद्रा पुलिस बल के साथ मौके पर मौजूद थे। नारेबाजी के दौरान भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी के पुतले को आग के हवाले कर दिया परंतु मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने भी फुर्ती दिखाई और पुतले को छीनकर आग बुझा दी। इसके बावजूद भाजयुमो कार्यकर्ता मौके पर डटे रहकर नारेबाजी करते रहे। यहां भाजयुमो मंडल अध्यक्ष अवधेश गुप्ता ने केरल में सरेआम गौहत्या को निंदनीय बताते हुए इसे देश के करोड़ों हिंदुओं की आस्था को चुनौती बताया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अर्से से अल्पसंख्यकों का तुष्टिकरण करने की नीति पर चलती रही है यहां तक कि हिंदुओं के आस्था प्रतीकों को भी नहीं बख्शा गया। उन्होंने कहा कि केरल में कांग्रेसियों द्वारा जिस प्रकार खुलेआम गौवध किया वह राहुल गांधी के परोक्ष समर्थन के बिना संभव नहीं है। उन्होंने घटना की कड़ी निंदा करते हुए कार्रवाई की मांग की।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket