0.शाबाउमावि पहुंचे अधिकारी, विद्यार्थियों को किया जागरूक

पᆬोटो क्रमांक 21जेएसपी 18 विद्यार्थियों को संबोधित करते अधिकारी, जेएसपी 19 नाबालिग बच्चों के वाहनों पर किया गया जुर्माना।

जशपुरनगर। नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले में बढ़ रही दुर्घटनाओं को लेकर जिला यातायात विभाग के द्वारा शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जशपुर में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यहां पुलिस विभाग के उच्च अधिकारी यातायात पुलिस की टीम के साथ पहुंचे और विद्यार्थियो को जागरूक किया। यातायात नियमों के उल्लंघन का परिणाम बतौर आंकड़ों के साथ अधिकारियों ने रखा और विद्यार्थियों को इस विषय पर गंभीर होने कहा गया।

डीएसपी नक्सल आपरेशन विकास पाटले, सुबेदार सौरभ चंद्राकर यातायात प्रभारी सहित यातातयात पुलिस की टीम शनिवार को शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जशपुर पहुंची। यहां विशेष कार्यक्रम जागरूकता के लिए आयोजित किया गया। यातायात जागरूकता अभियान कार्यक्रम में विकास पाटले एवं सौरभ चंद्राकर के द्वारा बढ़ती हुई सड़क दुर्घटना को देखते हुए स्कूली छात्रों एवं शिक्षकों को संबोधित किया गया। डीएसपी श्री पाटले ने कहाकि दो पहिया वाहन चालकों के द्वारा हेलमेट नहीं पहनने, तीन सवारी बैठने के कारण बड़ी दुर्घटना हो रही है, जिससे मौत व घायलों की संख्या लगातार बढ़ रही है। वहीं सीट बेल्ट चारपहिया वाहनों में नहीं बांधने का भी दुष्परिणाम सामने आ रहा है। वहीं सुबेदार श्री चंद्राकर ने कहा कि जिले में मालवाहक वाहनों में सपᆬर करने का भी दुष्परिणाम आए दिन देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि वाहन चलाते समय सारे दस्तावेज साथ रखकर चलें। नाबालिग छात्र-छात्राओं को वाहन न चलाने एवं सुरक्षित चलने एवं स्कूली छात्र-छात्राओं को समझ विकसित करने के साथ उन्हें अभिभावकों में समझ देने की अपील की गई । श्री चंद्राकर ने कहा कि जब तक 18 वर्ष ना हो जाए और 18 वर्ष होने के बाद ड्राइविंग लाइसेंस ना बन जाए तब तक वाहन ना चलाएं। यह भी बताया गया कि अपने अपने घर में अपने माता-पिता भाई-बहन एवं रिश्तेदारों को समझाएं कि नशे की हालत में वाहन ना चलाएं। दो पहिया वाहन चलाते समय तीन सवारी न चलें, वाहन चलाते समय मोबाइल फोन का प्रयोग ना करें। इसके साथ ही सड़क दुर्घटना में दुर्घटना कैसे होती है, क्यों होती है, किस प्रकार होती है, इसके बारे में प्रोजेक्टर एवं पावर प्वाइंट के माध्यम से शार्ट फिल्म दिखाकर स्कूली छात्र-छात्राओं को जागरूक करने का प्रयास किया गया।

जशपुरांचल में हुई कार्रवाई

शाबाउमावि में जागरूकता कार्यक्रम के बाद टीम जशपुरांचल स्कूल पहुंची। यहां बड़ी संख्या में नाबालिग बच्चों के द्वारा वाहन लेकर आने की शिकायत मिल रही थी। जिस पर कार्रवाई की गई। जशपुरांचल स्कूल जाकर नाबालिग बच्चों के वाहनों की जांच की गई। जिसमें आठ नाबालिग बच्चे वाहन चलाते नजर आए। नाबालिक वाहन चालकों के अभिभावकों को बुलाकर चालकों के विरूद्घ कार्यवाही कर 4500 रुपये का जुर्माना वसूल किया गया और नाबालिग वाहन चालकों के परिजनों से अपील की गई कि जब तक 18 वर्ष पूर्ण ना हो जाए, लाइसेंस ना बन जाए तब तक वाहन चलाने प्रेरित ना करें।

----