Chhattisgarh News : रविंद्र थवाइत (नईदुनिया), जशपुरनगर। वन क्षेत्रों में बिखरी हुई पत्तियां अब न केवल पर्यावरण संरक्षण का काम करेंगी, बल्कि कोरोना काल में ग्रामीणों की आय का एक महत्वपूर्ण साधन भी साबित होंगी। वन विभाग ने इन पत्तियों से बायो ब्रिकेट (लकड़ी) तैयार कर इसे बेचने का प्रस्ताव तैयार कर स्वीकृति के लिए शासन को भेजा है। प्रारंभिक तौर पर 25 लाख रुपये की इस महत्वाकांक्षी योजना के माध्यम से वन विभाग जंगलों की अवैध कटाई और गर्मी के मौसम में होने वाली आगजनी की घटना पर काबू करने का दावा कर रहा है।

वन विभाग के इस प्रस्ताव के मुताबिक बॉयो ब्रिकेट निर्माण के लिए सूखी पत्तियों के साथ पैरा, प्रदूषण रहित कचरे और खेतों के पराली का भी उपयोग किया जा सकता है। सूखे पत्तों को गलाकर इसकी लुगदी तैयार कर कम्प्रेशर मशीन की मदद से ब्रिकेट तैयार किए जाएंगे। वन विभाग द्वारा तैयार किए गए प्रस्ताव में पत्तियों को डेढ़ से दो रुपये प्रति किलो खरीदने और तैयार किए गए (ब्रिकेट) लकड़ी को पांच से छह रुपये प्रति किलो की दर से बेचने का प्रावधान किया गया है।

दरअसल, विभाग के सामने सबसे बड़ी चुनौती वनों की अवैध कटाई और वनों में आग को रोकने की है। बॉयो ब्रिकेट के प्रस्ताव को स्वीकृति मिलने पर इन दोनों ही समस्या से निबटा जा सकेगा। लोगों को ईंधन का एक सस्ता विकल्प उपलब्ध हो जाएगा। विभाग का दावा है कि हाई टेम्प्रेचर में तैयार की गई लकड़ी से धुआं कम निकलता है, इसलिए यह पर्यावरण हितैषी भी है। सूखी पत्तियों से मिलेगा रोजगार परियोजना में सूखी पत्तियों को खरीदने का प्रावधान किया गया है।

इसतरह योजना बेरोजगारों के लिए संजीवनी साबित हो सकती है। विभाग का अनुमान है कि सूखी पत्तियों की खरीदी शुरू होने से कचरे से भी मुक्ति मिलेगी तथा यह लोगों के आय का साधन भी बनेगा।

प्रस्ताव शासन को भेजा है

बॉयो बिक्रेट का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। 25 लाख रुपये के इस प्रस्ताव की स्वीकृति से न केवल वन और पर्यावरण को संरक्षित किया जा सकता है, बल्कि लोगों को आय का अतिरिक्त साधन भी मिल सकेगा।

- एसके जाधव,डीएफओ,जशपुर

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020