जशपुरनगर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। मनोरा के आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल में हिंदीं माध्यम में प्रवेश को लेकर दूसरे दिन भी स्थिति पूरी तरह से साफ नहीं हो सकी। गुरूवार को यहां हुए हंगामें के बाद शुक्रवार को जिला शिक्षा अधिकारी जेके प्रसाद मामले को सुलझाने के लिए यहां पहुंचें। उन्होनें यहां उपस्थित अभिभावकों से इस पूरे मामले में विस्तार से चर्चा की। चर्चा में उन्होनें बताया कि हिंदीं माध्यम में 52 बच्चे पहले से दर्ज हैं। फिलहाल 50 नए छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा। इसके बाद जरूरी हुआ तो 50 अतिरिक्त प्रवेश दिया जा सकता है। वहीं इस पूरी चर्चा के दौरान अभिभावक पहले की भांति 150 बच्चों के प्रवेश पर अड़े रहे। इस दौरान जिला शिक्षा अधिकारी ने अंग्रेजी और हिंदीं माध्यम दोनों के प्राचार्य का पूर्ण प्रभार बीआर निराला को सौंप दिया। शिक्षा विभाग के इस निर्णय से फिलहाल तो आत्मानंद स्कूल में उठा विवाद थम गया है,लेकिन शिक्षकों की कमी को देखते हुए,आने वाले दिनों में समस्या गहराने की आशंका जताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक आत्मानंद स्कूल के हिंदीं माध्यम की दर्ज संख्या इस समय 484 है। नए छात्रों के प्रवेश के बाद यह 6 सौ के करीब पहुंच जाएगी। इस भारी दर्ज संख्या की तुलना में शिक्षक न के बराबर हैं। आत्मानंद योजना में शामिल किए जाने से पहले इस स्कूल में 34 शिक्षक व अन्य कर्मचारियों का सेटअप स्वीकृत था। इन शिक्षकों व कर्मचारियों का अब यहां से स्थानांनतरण कर दिया गया है। फिलहाल यहां मात्र 7 शिक्षक पदस्थ है। 10 शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति का आदेश शासन ने जारी किया है। लेकिन,इनमें से मात्र एक ही शिक्षक ने पदभार ग्रहण किया है। ऐसे में महज 8 शिक्षकों के भरोसे 6 सौ छात्रों को पढ़ाना,स्कूल प्रबंधन के लिए बड़ी चुनौती साबित हो सकती है। परीक्षा परिणाम में भी शासन स्तर पर लिए गए इस निर्णय का विपरीत असर पड़ने की आशंका जताई जा रही है।

यह है पूरा मामला

मनोरा के आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल में गुरूवार को हिंदीं माध्यम में प्रवेश के लिए फार्म न दिए जाने से भड़के छात्र और उनके अभिभावक,स्कूल प्रांगण में ही धरने में बैठ गए थे। शाम 4 बजे तक इस मामले को लेकर हंगामा चलता रहा। लेकिन,जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव में व्यस्त रहे अधिकारी,इस ओर झांकने तक नहीं आए। अंततः शाम 4 बजे,डीईओ के निर्देश पर प्राचार्य बीएल निराला के शुक्रवार से हिंदीं माध्यम में प्रवेश की प्रक्रिया शुरू करने के आश्वासन के बाद,अभिभावक और छात्र वापस लौटे थे।

वर्जन

एडमिशन लिया जा रहा है और शिक्षकों की व्यवस्था प्रतिनियुक्ति की जाएगी। जिस तरह से स्वामी आत्मानंद स्कूल में पूर्व में शिक्षकों की व्यवस्था की गई थी। उसी तरह व्यवस्था की जाएगी।

जेके प्रसाद डीईओ जशपुरनगर।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close