जशपुरनगर। नईदुनिया न्यूज। जशपुर से लगे बालाछापर गांव में स्थानीय परिवेश को दृष्टिगत रखते हुए ट्रायबल टूरिस्ट विलेज का निर्माण साढ़े चार एकड़ रकबे में कराया जा रहा है। यहां जशपुर जिले के पुरातत्व, कला-संस्कृति एवं आदिवासी जीवन शैली की अद्भूत छटा देखने को मिलेगी। यह ट्रायबल टूरिस्ट विलेज आगामी दो माह में बनकर तैयार हो जाएगा। इसके मुख्य द्वार के निर्माण का कार्य जोर-शोर से चल रहा है। मुख्य द्वार के पीलर पर जशपुर के हर्राडीपा शैली की पत्थर मूर्तियां लगाई जाएगी। विभिन्न आकार-प्रकार एवं मुद्रा वाली मूर्तियों को तराशने का काम जारी है।

कलेक्टर निलेश कुमार महादेव क्षीरसागर ने गुरुवार को बालाछापर पहुंचकर ट्रायबल टूरिस्ट विलेज के निर्माण कार्य का मुआयना किया। इस दौरान जिपं सीईओ केएस मंडावी, एसडीएम डीएस राजपूत, पर्यटन विभाग के संभागीय अधिकारी आशीष कुमार वर्मा एवं टीसीआईएल के प्रोजेक्ट मैनेजर पंकज झा उनके साथ थे। कलेक्टर श्री क्षीरसागर ने पर्यटन विभाग के अधिकारियों से निर्माण कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। ट्रायबल टूरिस्ट विलेज के प्रवेश द्वार के समीप से विद्युत लाइन गुजरने की वजह से द्वार के निर्माण में आ रही दिक्कत को दूर करने के लिए उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को आवश्यकतानुसार विद्युत पोल की शिफ्टिंग तथा वहां विद्युत कनेक्शन देने के निर्देश दिए। बालाछापर मुख्य रोड से ट्रायबल टूरिस्ट विलेज तक लगभग 200 मीटर तक सीसी रोड के निर्माण का प्रालन तैयार कराने के निर्देश जिपं सीईओ को दिए। पर्यटन विभाग के संभागीय अधिकारी श्री वर्मा ने बताया कि ट्रायबल टूरिस्ट विलेज जशपुर के निर्माण का लगभग 70 प्रतिशत्‌ काम पूरा कर लिया गया है। यहां लैण्डस्केप तथा ओपन एमपी थिएटर सहित ईको लग हट्स का निर्माण कराया जा रहा है। इसके पूरा होते ही इस ट्रायबल टूरिस्ट विलेज में स्थानीय प्रजातियों के पेड़ पौधे लगाए जाएगें। उन्होंने बताया कि जशपुर जिले के पुरातात्विक स्थल पर विद्यमान पत्थर की मूर्तियों को ध्यान में रखते हुए उसी शैली में पत्थर की मूर्तियां बनाई जा रही है। जिसे मुख्यद्वार पर लगाया जाएगा। भारत सरकार के स्वदेश दर्शन योजना के तहत्‌ इसका निर्माण आठ करोड़ रुपए की लागत से कराया जा रहा है। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल द्वारा यह कार्य ट्रायबल टूरिस्ट विलेज के निर्माण में ख्याति प्राप्त संस्था टेली कम्युनिकेश्न इंडिया लिमिटेड द्वारा कराया जा रहा है। इस संस्था द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य की कोण्डागांव, कबीरधाम जिले के सरोधादादर तथा बिलासपुर जिले कुरदूर में ट्रायबल टूरिस्ट विलेज का निर्माण किया गया है। टीसीआईएल के प्रोजेक्ट मैनेजर पंकज झा ने बताया कि यहां ट्रायबल आर्टिशियन सेंटर लग हट्स, व्याख्यान भवन, कैफेटेरिया, ओपन एमपी थिएटर का निर्माण कराया जा रहा है। कलाकार एवं टूरिस्ट को ठहरने के लिए पूर्णतः लकड़ी से निर्मित हट्स का निर्माण पूर्णता की ओर है। ट्रायबल टूरिस्ट विलेज बालाछापर में स्थानीय कलाकारों द्वारा निर्मित विविध प्रकार की कलाकृतियों के प्रदर्शन एवं विक्रय की भी व्यवस्था रहेगी।

---------