जशपुरनगर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। मंगलवार को सुबह से हुई रिमझिम बारिश से शहर सहित आसपास का मौसम बदल गया। ठंडी हवा चलने से लोगों उमस से राहत मिली,वहीं आसमान में बादल छा जाने से तेज धूप भी नहीं सता पाई। रूक रूक कर हो रही बारिश से खेतों में कुछ पानी भरने से किसानों को थोड़ी राहत मिली है। हालांकि अब भी रोपाई कार्य के लिए झमाझम बारिश का इंतजार किसान कर रहें हैं। जिले में अल्प वर्षा की स्थिति को देखते हुए,प्रदेश सरकार ने जिले के पांच ब्लाक को सुखाग्रस्त घोषित कर चुकी है। पूरा सावन महिना लगभग सूखा गुजर जाने से लोग अब अच्छी वर्षा की आशा छोड़ चुके हैं। खेतों में बोए गए धान के बीच और लगी हुई फसलों को बचाने के लिए भगवान से प्रार्थना और पारम्परिक अनुष्ठान से भी फिलहाल,रूठे हुए बादल,बरसने के लिए तैयार नहीं हैं। मानसून की इस बेरूखी के बाद भी किसान मायूस होने के लिए तैयार नहीं हैं। खेतों में जमा हुई अल्प वर्षा की पानी से ही धान के पौधे को रोपा करने में किसान और मजदूर जुटे हुए हैं। किसानों को आशा है कि उनकी मेहनत के पसीने से भगवान शिव और इंद्र की मेहरबानी आसमान से वर्षा के रूप में बरस जाए। जिला प्रशासन के राजस्व रिकार्ड के अनुसार 1 जून से अब तक जिले में 354.5 मिली मीटर वर्षा रिकार्ड किया गया है। बीते 24 घंटे में जिले में महज 2.9 मिली मीटर वर्षा ही दर्ज किया गया है। भू अभिलेख शाखा के रिकार्ड के अनुसार जशपुर तहसील में 333.0,कुनकुरी में 393.3,मनोरा में 382.2,दुलदुला में 315.2,फरसाबहार में 314.7,बगीचा में 400,कांसाबेल में 290.2,पत्थलगांव में 377.3 और सन्नाा में 383.7 मिली मीटर वर्षा दर्ज किया गया है।

मौसम में घुली ठंडक -

मंगलवार को तेज हवा के साथ दिन भर हुई रिमझिम वर्षा से मौसम में ठंडक घुल गई है। मौसम में आए इस बदलाव ने लोगों गर्मी और उमस से राहत दी है। मंगलवार को शहर में बाजार के बंद होने और शासकीय अवकाश होने से लोग,मौसम का आनंद लेने के लिए पिकनीक स्पाट की ओर जाते हुए दिखाई दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close