तुमला(नईदुनिया प्रतिनिधि)। सूखे से जूझ रहे किसानों पर हाथियों का उत्पात दोहरी मुसीबत साबित हो रहा है। छत्तीसगढ़,

ओडिशा और झारखंड की अंतरराज्यीय सीमा पर स्थित तपकरा वन परिक्षेत्र में इन दिनों 15 हाथियों ने डेरा जमाया हुआ है। हाथी खेतों में मौजूद फसल के साथ घरों को भी निशाना बना रहें हैं। बीते 24 घंटे के दौरान हाथियों ने 5 घरों को तोड़ा है। जानकारी के अनुसार बीते एक सप्ताह से तपकरा और कुनकुरी वन परिक्षेत्र में 8 हाथी डेरा जमाएं हुए थे। इसी बीच ओड़िशा से 7 हाथियों का एक दल और घुस आने से इनकी संख्या 15 हो गई है। इन हाथियों ने बीते 24 घंटे में तपकरा रेंज के दाईजबहार,

साजबहार और कंदईबहार में 5 घरों को तोड़ दिया है। घटना की सूचना पर वन और राजस्व विभाग के कर्मचारी पहुंचें और क्षतिपूर्ति राशि देने के लिए प्रकरण तैयार करने में जुटे रहे। इस बीच वनविभाग ने हाथियों की हलचल की जानकारी देते हुए स्थानीय रहवासियों से जंगल से दूर रहने की सलाह दी है।

रास्ता बदलने से बढ़ी परेशानी

ओड़िशा और छत्तीसगढ़ हाथियों का आना जाना लगा रहा था। लेकिन बीते कुछ समय से हाथियों ने इन दिनों राज्यों में आने जाने के लिए अपने रास्ते को बदल दिया है। स्थानीय प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हाथी पहले पेरवांआरा,सागजोर होकर ओडिशा से तपकरा रेंज में प्रवेश करते थे। लेकिन इन दिनों हाथियों का दल घुमरा होकर आ रहा है। माना जा रहा है कि पुराने रास्ते में मानवीय हलचल बढ़ने के कारण हाथियों ने अपने रास्ते में बदलाव किया है।

------

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close