जशपुरनगर (नईदुनिया न्यूज)। सरकारी स्कूल के शिक्षकों ने मिल कर सरकार के किचन गार्डन के सपने को साकार कर दिखाया है। इन शिक्षकों ने स्कूल के प्रांग़ण में दौ सौ किलो प्याज का उत्पादन किया है। इसका उपयोग मध्या- भोजन योजना के माध्यम से बच्चों की भूख मिटाने के लिए किया जाएगा। शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार प्रत्येक शाला के परिसर में किचन गार्डन विकसित किया जाना था। इसी तारतम्य में बगीचा विकासखंड के आदर्श प्राथमिक शाला रंगापाठ के तीन शिक्षकों एवं संस्था के कर्मचारियों ने शाला परिसर में किचन गार्डन विकसित की। चूंकि जमीन का धरातल पथरीला होने के कारण किचन गार्डन विकसित करने में शिक्षकों के समक्ष चुनौती थी। शिक्षकों ने शासकीय राशि एवं अंशदान राशि व्यय कर मिट्टी भराई कार्य कराया तथा गोबर खाद क्रय किया। किचन गार्डन में विभिन्न प्रकार की सब्जियां जैसे पालक, मेथी, चना, धनिया, लाल भाजी एवं प्याज की खेती की। किचन गार्डन में लगाई गई सब्जियों का उपयोग मध्यान्ह भोजन में किया जाने लगा। कोरोना वायरस जैसी वैश्विक महामारी के कारण शाला बंद हो गया। शैक्षिक समन्वयक देवराज राम के मार्गदर्शन से शाला के प्रधान पाठक यू केरकेट्टा एवं शिक्षक लव कुमार गुप्ता ने शाला ग्राम के लोगों को निर्देशित किया कि वे लोग फिजिकल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए स्कूल के किचन गार्डन में लगे हुए सब्जियों का उपयोग कर सकते हैं। लॉकडाउन की अवधि में बसाहट के नागरिकों ने किचन गार्डन के सब्जियों का उपयोग किया। प्रधान पाठक ने कहा कि संस्था के शिक्षकों एवं गैर शैक्षणिक कर्मचारियों के सहयोग से यह कार्य संभव हो सका है। बीते वर्ष भी किचन गार्डन विकसित की गई थी परंतु इस वर्ष किचन गार्डन का क्षेत्र बड़ा हो गया। इसमें सभी ने अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि किचन गार्डन का उपयोग शैक्षणिक कार्य में किया जाता है बच्चों को सब्जियों के उत्पादन के तरीके, देखभाल करने के तरीके तथा भोजन में हरी सब्जियों के उपयोग से होने वाले लाभ आदि के संबंध में विस्तृत जानकारी दी जाती है। शिक्षक लव कुमार गुप्ता ने बताया कि किचन गार्डन में लगाए हुए प्याज की जब खुदाई हुई तो लगभग 200 किलोग्राम का उत्पादन हुआ। इस उत्पादित प्याज का उपयोग मध्यान्ह भोजन में किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना