जशपुरनगर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दल से बिछड़कर अकेले भटक रहे दंतैल ने दो घरों को क्षतिग्रस्त कर दिया। कोरोना संक्रमण की वजह से लाकडाउन और धारा 144 की वजह से घर की दहलीज में सिमटे हुए ग्रामीणों को हाथियों के आतंक का सामना करना पड़ रहा है। इन पीड़ितों तक राशन सहित अन्य आवश्यक सामग्री पहुंचा कर वन विभाग की टीम राहत देने में जुटी हुई है।

जिले के तपकरा वन परिक्षेत्र के डुमरिया बीट के ग्राम पालेपखना में अकेले भटक रहे एक दंतैल ने बोधन साय और भुजबल साय के घर को क्षतिग्रस्त कर दिया था। सूचना पर वनमंडलाधिकारी एसके जाधव के निर्देश पर तपकरा क्षेत्र के वनपरिक्षेत्राधिकारी अभिनव केसरवानी के नेतृत्व में वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। हाथियों द्वारा किए गए क्षति का आंकलन कर मुआवजा प्रकरण तैयार किया गया। इसके साथ ही वन विभाग ने इन पीड़ित ग्रामीणों को लाकडाउन की वजह से होने वाली परेशानी से बचाने के लिए आवश्यक सामान भी उपलब्ध कराया। मौके पर पहुंचे वन विभाग के अधिकारियों ने दोनो पीड़ित ग्रामीणों के साथ बस्ती के अन्य लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण से देश और दुनिया की स्थिति की जानकारी देते हुए लाक डाउन के दौरान घर में रहने की समझाइश दी।

वनविभाग कर रहा पीड़ितों की सहायता

जिले में हाथियों के उत्पात का सामना कर रहे लोगों की सहायता के लिए वन विभाग ने हाथ आगे बढ़ाया है। डीएफओ एसके जाधव ने बताया कि हाथियों द्वारा जिन ग्रामीणों के घरों को नुकसान पहुंचाया था,उन सभी परिवारों को लाक डाउन के दौरान आवश्यक सामान का कीट उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होनें बताया कि इन परिवारों को चिन्हांकित करके वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी घर तक कीट पहुंचा रहे है। इस दौरान इन परिवारों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए घर में ही रहने की समझाइश भी दी जा रही है। साथ ही जंगल में ना जाने और पेड़ों की कटाई न करने के लिए भी ग्रामीणों को कहा जा रहा है।

नारायणपुर क्षेत्र में हाथियों ने जमाया डेरा

हाथी प्रभावित जशपुर जिले में इस वक्त अलग अलग दलों में 30 हाथी मौजूद है। सबसे अधिक हाथी बादलखोल अभ्यारण्य और इसके आसपास के इलाके में भटक रहे हैं। इस अभ्यारण्य को केन्द्र सरकार के एलीफेंट कॉरिडोर परियोजना में शामिल किया गया है। परियोजना के तहत हाथियों को चारा और पानी के साथ स्थायी रहवास के लिए उचित माहौल देने की दिशा में काम किया जा रहा है। लेकिन इस अभ्यारण्य क्षेत्र में हो रही बेतहाशा अवैध कटाई,सरकार के सारे प्रयासों पर पानी फेरता नजर आ रहा है। इस अवैध कटाई को लेकर विधायक यूडी मिंज वन विभाग के आला अफसरों को पत्र भी लिख चुके हैं। एक माह के दौरान इस अभ्यारण्य क्षेत्र में एक हाथी और एक महिला की मौत हो चुकी है।

---

बच्चों पर खास निगरानी रखें परिजन : मौलाना मंसूर

सरकार के आदेशों का पालन करना है बहुत जरूरी

फोटो 7 जेएसपी 2 : मौलाना मंसूर

जशपुरनगर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। गर्मी के दिनों में खासकर उस वक्त जब स्कूलों की छुट्टी हो जाती है तब स्कूली विद्यार्थियों का अधिक वक्त खेलकूद में ही गुजरता है। इन दिनों वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की वजह से भी स्कूलों की छुट्टी कर सरकार ने सभी को घर के भीतर रहने के लिए संपूर्ण लाक डाउन यानि बंद कर दिया है। साथ ही आदेश दिया है कि सभी घर पर ही रहें और साफ-सफाई में विशेष ध्यान देकर कोरोना से खुद भी बचें और परिवार व समाज के साथ ही अपने आसपास के लोगों को भी बचाएं। यह संक्रमित बीमारी है और छूने से फैलने की स्थिति है। लेकिन हालात यह है कि छोटे-छोटे बच्चे जबरन घरों से बाहर निकल रहे हैं और खेलकूद कर वापस घर लौट रहे हैं। जिससे घरों में वायरस के घुसने का खतरा मंडरा रहा है। इस खतरे से गंभीरता से निपटने की सलाह देते हुए जिला मुख्यालय के जामा मस्जिद के मुतवल्ली मौलाना मंसूर आलम फैजी ने समुदाय के लोगों से अपील कर कहा है कि बाहर निकलने वाले बच्चों पर कड़ी पाबंदी और निगरानी रखें। उन्होंने कहा कि बच्चा कहां जा रहा है और किसके साथ किन हालातों में खेलकर आ रहा है यह कोई नहीं जानता। दबे पांव घर के भीतर बीमारी आएगी और पूरे मोहल्ले के साथ ही शहर को बीमार कर देगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के आदेशानुसार लाक डाउन का पालन करें और घर के भीतर लगातार हाथ को साबुन से धोते रहें इससे ही सभी सुरक्षित रह सकते हैं। साथ ही कहा कि अपने आसपास गंदगी को जमा न होने दें और नियमित रूप से साफ-सफाई में ध्यान दें।

पैगम्बर साहब की भी हिदायत है

संक्रमित रोगों से बचाव के संबंध में मौलाना मंसूर आलम फैजी ने बताया कि पैगम्बर हजरत मोहम्मद ने भी हैजा, चेचक और अन्य छुआछुत जैसी बीमारियों के प्रकोप के दौरान लोगों को एक दूसरे से दूरी बनाकर रहने की हिदायत दी थी। आसमानी बला और संक्रमित बीमारी से हिफाजत के लिए दूरियां बनाकर रखनी चाहिए।

शासन के आदेशों का पालन अवश्य करें

अंजुमन इस्लामियां के सदर महबूब अंसारी ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से किए जा रहे प्रयासों में सभी का सहयोग होना जरूरी है। उन्होंने समुदाय के युवाओं व सभी वर्ग के अपील करते हुए कहा कि आदेशों की अवहेलना किसी भी कीमत में न करें। कानून का पालन करें और प्रशासन का सहयोग करें। शासन-प्रशासन का सहयोग हमारे लिए ही है।

-------

दुलदुला में लाकडाउन उल्लंघन, चार पर अपराध दर्ज

जशपुरनगर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जशपुर जिले के दुलदुला थाना में सोमवार को लाकडाउन उल्लंघन के चार मामले में अपराध दर्ज किया गया है। कोरोना महामारी को रोकने के लिए प्रदेश सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन ने लाक डाउन और धारा 144 लागू किया है। इस आदेश का प्रचार प्रसार करते हुए सभी व्यापारियों को आवश्यक वस्तुओं की बिक्री के लिए दी गई छूट की अवधि को छोड़ कर शेष समय बंद रखने का सख्त निर्देश दिया गया है। इस आदेश को दरकिनार करते हुए दुलदुला के व्यापारियों द्वारा दुकान को खोले जाने की शिकायत मिल रही थी। एसपी एसएल बघेल के निर्देश पर सोमवार को दुलदुला पुलिस की टीम बाजार के निरीक्षण के लिए निकली थी। इस दौरान चार दुकान खुले पाए गए। मामले में कार्रवाई करते हुए दुलदुला पुलिस ने चारों व्यवसायी चंदु गुप्ता, राजू गुप्ता, संदीप गुप्ता और हरिहर ठाकुर के खिलाफ धारा 188,269,270 के तहत अपराध दर्ज किया गया है।

------

भाजपाइयों ने घरों में मनाया स्थापना दिवस

0.पंडित दीनदयाल उपाध्याय के योगदान को किया याद

फोटो 7 जेएसपी 3 : पार्टी संस्थापक पं।दीनदयाल को श्रद्वा सुमन अर्पित करते पूर्व केन्द्रीय मंत्री विष्णुदेव साय

दोकड़ा (नईदुनिया न्यूज)। भाजपा का स्थापना दिवस पर जिले के भाजपाइयों ने सोमवार को अपने घरों में मनाया। जिले भर में कोरोना वायरस के चलते लाकडाउन के चलते पार्टी के निर्देश पर सभी जिला के पदाधिकारियों में अपने अपने घरों में पार्टी के स्थापना दिवस पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय एवं श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर पुष्प अर्पित किए गए। इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय ने अपने निवास में मनाया। स्थापना दिवस के अवसर पर उन्होंने कहा कि भाजपा का मुख्य उद्देश्य लोकतांत्रिक राजनीति के माध्यम से देश और समाज की सेवा करना है।उन्होंने कहा कि प्रखर नेता डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी द्वारा सन 1951 में स्थापित भारतीय जनसंघ को पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने एकात्म मानव दर्शन की ओर उन्मुख कर पार्टी के रूप में गढ़ा। राष्ट्रभक्ति के विचारों से समझौते की बात आई तो जनता पार्टी से अलग होकर भाजपा की यात्रा आरंभ की। इस अवसर पर उनकी पत्नी कौशल्या साय ने कहा कि सरकार का उद्देश्य देश के हर व्यक्ति के लिए कल्याण के कार्य करना है।उन्होंने मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर जो उनके द्वारा उठाए गए ऐतिहासिक कदम एवं किसी प्रकार की लोंगो को समस्या न हो उसके लिए जनधन योजना के तहत महिलाओं को तीन महीने तक 500 रुपये प्रत्येक माह, एक मुफ्त में गैस वितरण सहित पूरे देश मे इस महामारी से निपटने के लिये अलग से बजट देकर लोंगो को राहत पहुंचाने की काम कर रही है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने लोंगो से अपील करते हुए घर मे रहने की अपील की है।

-----------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस