जशपुरनगर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए आंकड़ों के बीच,जिला प्रशासन ने इस पर काबू पाने के लिए उपाय तलाशने में जुटी हुई है। इसके लिए जांच में तेजी के साथ बचाव के लिए जारी गाइड लाइन के पालन पर जोर दिया जा रहा है। ग्रामीण अंचल में कोरोना जांच के लिए जिला प्रशासन मोबाइल यूनिटों को मैदान में उतार चुकी है। जांच में लापरवाही पर सख्त रवैया अपनाते हुए कलेक्टर महादेव कावरे जिले के तीन विकासखंड चिकित्सा अधिकारियों का एक माह का वेतन रोके जाने की कार्रवाई कर चुके है। इन तमाम कार्रवाई के बावजूद जिले के बाजार,दुकान सहित सार्वजनिक स्थलों पर उमड़ रही भीड़ पर काबू पाने की चुनौती अब भी जिला प्रशासन के सामने खड़ी हुई है। कोरोना संक्रमण को लेकर प्रशासन की बढ़ती हुई चिंता का एक बड़ा कारण जिले में कोरोना से मौत के बढ़ते हुए आंकड़े भी है। हफ्ते भर में मौत का आंकड़ा 14 से बढ़ कर 18 तक पहुंच चुका है। वहीं संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या जिले में 253 तक पहुंच चुका है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक बुधवार को जिले में 17 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें कांसाबेल में 7,पत्थलगांव में 4,जशपुर में 3,फरसाबहार 2 और लोदाम में एक नया मामला दर्ज किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक बुधवार को जिले भर में 13 सौ 21 नमूने जांच के लिए एकत्र किए गए थे। इनमें से 1 हजार 29 रैपिड एंटीजन,289 आरटीपीसीआर,10 ट्रू नाट नमूने शामिल है। कोरोना संकट खड़ा होने के बाद से जिले में स्वास्थ्य विभाग अब तक 69 हजार 778 नमूनों की जांच कर चुका है। स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि जिले के कुल आबादी का 7.3 प्रतिशत जनसंख्या का कोरोना जांच किया जा चुका है। इसमें संक्रमित मरीजों का दर 3.55 प्रतिशत है। वहीं कोरोना से जंग जीतने वालों की दर 89.06 प्रतिशत है।

----------------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस