जशपुरनगर नईदुनिया प्रतिनिधि। बाहुबली प्रजाति की टमाटर किसानों को खूब लुभा रही हैं। इस प्रजाति की टमाटर में एक पौधे में 10 किलो तक टमाटर के पᆬल मिलने का दावा किया जा रहा है। इसके साथ ही यह कम और अधिक बारिश की स्थिति में भी अच्छा उत्पादन देने में समक्ष बताया जा रहा है। इसकी इन्हीं खासियत की वजह से किसान इसकी ओर आकर्षित नजर आ रहे हैं। बाहुबली टमाटर के बीज का प्रदर्शन जिले के कुनकुरी तहसील के सलियाटोली में जशपुर महोत्सव में किया गया है। इस महोत्सव का आयोजन मंगलवार को हुआ। इस महोत्सव का आयोजन जिले में पर्यटन और आधुनिक कृषि को प्रोत्साहित करने के लिए किया गया है। आयोजन स्थल पर कृषि विशेषज्ञ किसानों को आधुनिकतम तरीके से कृषि करने का प्रशिक्षण दे रहे हैं। वहीं एडवेंचर स्पोर्टस का लुत्पᆬ उठाने के लिए जिले भर से युवा इसमें जुट रहे हैं। खास कर पैराग्लाइडिंग के प्रति रोमांच के शौकीन युवाओं का जुनून देखते ही बनता है।

कुनकुरी विधायक यूडी मिंज ने बताया कि जल,जंगल और जमीन पर अधिकार को लेकर जिले में कई सालों से आंदोलन चलाया जा रहा है। स्थानीय लोगों के इसी भावना को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश सरकार ने पर्यटन और कृषि के माध्यम से लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में पहल प्रारंभ किया है। उन्होनें बताया कि जशपुर महोत्सव में जिले के किसानों को आधुनिक यंत्र और उन्नत बीज की जानकारी देकर कम समय,कम लागत में अधिक उपज प्राप्त करने की जानकारी दी जा रही है। उन्होनें बताया कि इस जिले में धान के अलावा चाय, टाउ, आलू, मिर्च, स्ट्राबेरी जैसे नगद पᆬसल का सपᆬल उत्पादन किया जा चुका है। अब इन पᆬसलों पर आधारित प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित करके सरकार किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करना चाहती है। महोत्सव में इसी उद्देश्य से प्रशिक्षण के साथ उन्नत बीज और कृषि यंत्रों का प्रदर्शन किया गया है।

युवाओं को लुभा रहा एडवेंचर स्पोर्टस

जशपुर महोत्सव में सबसे अधिक आकर्षण का केन्द्र एडवेंचर स्पोर्टस बना हुआ है। राजस्थान से आए पैरा ग्लाइडर्स की टीम युवाओं को हवा में सैर करा रही है। जिले में पहली बार आए हवाबाजी के इस खेल का युवा वर्ग जमकर लुत्पᆬ उठा रहा है। इस आयोजन में प्रमुख भूमिका निभाने वाले विधायक यूडी मिंज ने बताया कि जिले में एडवेंचर स्पोर्ट के विकास की अपार संभावनाएं हैं। पैरा ग्लाईडिंग,रॉक क्लाइम्बिंग जैसे एडवेंचर स्पोर्टस ना केवल रोजगार के अवसर सजृत करने में मददगार साबित होगें अपितु पर्यटन उद्योग को भी विकासीत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगें। जशपुर महोत्सव के माध्यम से इस खेल के प्रति जिलेवासियों को जागरूक करने का प्रयास किया गया है। उन्होनें उम्मीद जाहिर किया कि यह छोटा सा प्रयास आगे चल कर जिले के लिए एक बड़े सौगात में तब्दील होगा।

आज मुख्यमंत्री करेगें समापन

जशपुर महोत्सव का गुरुवार को समापन होगा। समापन समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शामिल होगें। कलेक्टर कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री दोपहर तकरीबन 12 बजे हेलिकॉप्टर से कुनकुरी पहुंचेगें। यहां भोजन करने के बाद सीधे सलियाटोली स्थित आयोजन स्थल पहुंच कर महोत्सव का निरीक्षण करने के बाद इसके समापन की घोषणा करेगें।

किसानों की समस्या का समाधान है बाहुबली

जशपुर महोत्सव में साग-सब्जियों के साथ धान व पᆬलों के उन्नत प्रकार के बीज का प्रदर्शन किया गया है। इनमें सबसे अधिक चर्चा टमाटर के बहुबली प्रजाति के बीज को हो रही है। बहुचर्चित पिᆬल्म से नाम का जुड़ाव होने के वजह से लोगों की जुबां पर इसकी चर्चा तो चढ़ी ही हुई है,साथ ही इसकी जो विशेषताएं बताई जा रही है,वह भी किसानों को खूब लुभा रही है। दावे के मुताबिक इस प्रजाति के एक पौधे में 8 से 10 किलो टमाटर के पᆬल लगते हैं। कम और अधिक बारिश से उत्पादन प्रभावित नहीं होता। इसके साथ ही उत्पादित पᆬल 5 दिन बाद भी खराब नहीं होता है।

उद्योगमुक्त हरित जशपुर में पर्यटन व कृषि क्षेत्र का विकास कर,यहां के लोक संस्कृति को संरक्षित करने के उद्देश्य से जशपुर महोत्सव का आयोजन किया गया है। इन क्षेत्रों के विकास में यह आयोजन मील का पत्थर साबित होगा।

यूडी मिंज,विधायक,कुनकुरी।

Posted By: Nai Dunia News Network