जशपुरनगर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। बीते 48 घंटे से हो रही लगातार वर्षा से शहर सहित पूरे जिले में सामान्य जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुई है। मौसम की मेहरबानी से अब तक बूंद बूंद पानी के लिए तरस रहे खेत,पानी से लबालब भर गए हैं। नदी,नाले और तालाब में भी तेजी से जलभराव हो रहा है। लगातार हो रही वर्षा को देखते हुए सूखे का खतरा टलने की आशा जताई जा रही है। हालांकि मानसून की मेहरबानी में हुई लेट लतीफी से धान की फसल को नुकसान होने की आशंका को पूरी तरह से खारिज नहीं किया जा रहा है। झमाझम हो रही बारिश के कारण गुरूवार को शहर की सड़कों पर सन्नााटा पसरा हुआ नजर आया। गुरूवार को साप्ताहिक बाजार होने के बाद भी दुकानों में अन्य दिनों की तुलना में ग्राहक कम नजर आए। इसके बाद भी शहरवासियों ने आसमान से बरस रहे पानी का स्वागत किया। बीते दो दिनों से हो रही इस वर्षा के असर से मौसम भी पूरी तरह से बदल चुका है। गर्मी और उमस की जगह अब हल्की ठंडक ने ले लिया है। मौसम में हो रहे इस बदलाव से वायरल फिवर की शिकायत देखने को मिल रही हैं। सबसे अधिक प्रभावित वृद्ध और बच्चे हो रहें हैं। भू अभिलेख शाखा के रिकार्ड के अनुसार जिले में 1 जून से अब तक 362.7 मिमी औसत वर्षा हो चुकी है। जिले में बीते 10 वर्षों की तुलना में 10 अगस्त तक औसत वर्षा 629.2 मिमी हुई है। बीते दिवस जिले में 6.7 मिमी बारिश हुई है। भू-अभिलेख शाखा से प्राप्त जानकारी के अनुसार 01 जून से अब तक जशपुर तहसील में 339.4 मिमी, मनोरा में 391.9 मिमी, कुनकुरी में 395.1 मिमी, दुलदुला में 316.3 मिमी, फरसाबहार में 326.3 मिमी, बगीचा में 404.6 मिमी, कांसाबेल में 297.6 मिमी, पत्थलगांव में 397.9 मिमी एवं सन्नाा में 395.2 मिमी वर्षा हो चुकी है। सर्वाधिक वर्षा बगीचा तहसील में दर्ज की गई है।

-

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close