जशपुरनगर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। वट सावित्री मामले में राज्य महिला आयोग ने पुलिस विभाग को पीड़ित महिलाओं का बयान दर्ज कर आरोपित के खिलाफ मजबूत चार्जशीट न्यायालय के समक्ष पेश करने का निर्देश दिया है। आयोग की अध्यक्ष श्रीमती किरण नायक के एक दिवसीय जशपुर प्रवास के दौरान पीड़ित महिलाएं स्थानीय विश्राम गृह में पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती प्रियंवदा सिंह जूदेव के नेतृत्व में मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। अध्यक्ष श्रीमती नायक ने महिलाओं से घटना की विस्तार से जानकारी ली। पीड़ित महिलाओं ने आरोपित नसीम खान के मानसिक रूप से अस्वस्थ्य होने की बात का विरोध करते हुए कहा कि उसने सोची समझी योजना के तहत उन पर न केवल पेशाब फेंका बल्कि उनकी धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचाने वाली अनर्गल टिप्पणियां भी की। पीड़ित महिलाओं को समझाइश देते हुए श्रीमती नायक ने कहा कि न्यायालय में कानूनी प्रक्रिया के दौरान पूरी सावधानी व जागरूकता के साथ बयान देने को कहा ताकि आरोपित का अपराध साबित हो सके और उसे सजा दिया जा सके। श्रीमती प्रियंवदा सिंह जूदेव ने पीड़ित महिलाओं के लिए आवश्यक कानूनी सहायता उपलब्ध कराने का भरोसा दिया है। श्रीमती जूदेव ने कहा कि इस शर्मनाक मामले में पीड़ित महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए वे शुरू से संघर्ष कर रही है। आरोपित को जब तक उसके किए की सजा नहीं मिल जाती तब तक वे चैन से नहीं बैठेगीं।

शहर के नजदीक स्थित पुरना नगर के आश्रित रानी बगीचा में 22 जून को वट सावित्री पूजा कर रही महिलाओं ने सिटी कोतवाली पुलिस में शिकायत दर्ज कराया था कि आरोपित नसीम खान ने पूजा के दौरान वट वृक्ष के नजदीक पेशाब करने की कोशिश की थी। उनके रोके जाने पर वह मौके से चला गया था और कुछ ही देर बाद लौट कर पालिथिन के पैकेट में पेशाब फेंक दिया था। पूजा सामग्री के अपवित्र हो जाने पर उनकी पूजा अधूरी रह गई थी। पीड़ित महिलाओं की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने धारा 295,505 ए के तहत अपराध कायम करते हुए आरोपित नसीम खान को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज चुकी है।

-----------

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close