जशपुरनगर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में बीते 48 घंटे से हो रही अनावरत बारिश से सामान्य जनजीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया है। लगातार हो रही बारिश से कई नदी नाले उफान पर आ गए है। मौसम के तेवर को देखते हुए प्रदेश सरकार ने जिले के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। भू अभिलेख विभाग के रिकार्ड के मुताबिक जिले में बीते 24 घंटे के दौरान 50.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। सबसे अधिक 100 मिलीमीटर बारिश जशपुर तहसील में रिकार्ड की गई है। इसके अलावा मनोरा में 58,कुनकुरी में 44,दुलदुला में 75,फरसाबहार में 24,बगीचा में 54,कांसाबेल में 18,पत्थलगांव में 23 और सन्नाा तहसील में 42 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई है। विभाग के मुताबिक जिले में 104 प्रतिशत बारिश हो चुकी है। औसत बारिश की बात की जाए तो 1180.5 प्रतिशत बारिश दर्ज किया जा चुका है। बारिश के इस कहर से शहर में लाकडाउन सा नजारा देखने को मिल रहा है। गली मोहल्ले से लेकर शहर की मुख्य सड़कों में सन्नााटा पसरा हुआ है। स्कूलों में बामुश्किल 30 प्रतिशत ही उपस्थिति दर्ज की गई। बाजार में भी सन्नााटा पसरा हुआ है। मौसम की वजह से सर्दी,खांसी और बुखार जैसे मौसमी बीमारी में कहर ढा रहे है। जिला चिकित्सालय के जनरल बेड पूरी तरह से भरे हुए हैं। मौसम के जानकारों का कहना है कि आने वाले 24 घंटे के दौरान बारिश से राहत मिलने की संभावना कम ही है।

बिजली व्यवस्था हुई ध्वस्त

आसमान से बरस रहे कहर के बीच विद्युत विभाग की लापरवाही ने एक बार फिर शहरवासियों को जमकर हलाकान किया। सबसे बुरी स्थिति ग्रामीण अंचल में देखने को को मिली। कई गांव सुबह से लेकर रात तक अंधेरे में डूबे रहे। वहीं शहरी क्षेत्र में हर आधे घंटे में बिजली के गुल होने और आने का सिलसिला चलता रहा। बीते कई महिनों से शहर से लेकर ग्रामीण अंचल तक ध्वस्त हो चुकी है। लेकिन इस ओर अब तक किसी का ध्यान नहीं दिया है। हलाकान लोगों का कहना है कि जिले में बिजली की स्थिति तीन दशक पहले वाली हो गई है।

------------------

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local