जशपुरनगर । हिंदू युवती और मुस्लिम युवक के प्रेम प्रसंग से जशपुर में तनाव बढ़ गया था। हिंदू संगठनों, आदिवासी समुदाय और वनवासी कल्याण आश्रम के कार्यकर्ताओं ने जशपुरनगर को अनिश्चितकालीन बंद करा दिया। इसे लेकर राष्ट्रीय राजमार्ग पर चक्काजाम किया गया। देर शाम कलेक्टर की अध्यक्षता में हुई बैठक में हिंदू युवती को उसके स्वजन को सौंपने पर सहमति बनी। इसके बाद चक्काजाम समाप्त कर दिया गया।

गुरुवार की सुबह से बंद को देखते हुए पुलिस नगर में गश्त करती रही और इंटरनेट मीडिया पर नजर रखी हुई थी। ये प्रकरण चार माह पुराना है। तब युवती नाबालिग थी इसलिए पुलिस ने उसे सखी सेंटर भेज दिया था। बालिग होने के बाद युवती ने प्रेमी के साथ जाने की इच्छा जताई तो उसे जाने दिया गया। सोमवार को इंटरनेट मीडिया में युवती का एक शपथ पत्र प्रसारित हुआ, जिसमें उसने कहा है कि वह मुस्लिम धर्म स्वीकार करेगी। इसे लेकर हिंदू संगठन नाराज हो गए और युवक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर नगर बंद की घोषणा कर दी।

हिंदू संगठनों के बंद के आह्वान का शहर में व्यापक असर पड़ा। गुरुवार की सुबह से बाजार पूरी तरह से बंद रहा। कार्यकर्ताओं ने शहर में रैली निकालकर जमकर नारेबाजी की। इस दौरान शहर के चीर बगीचा में धक्कामुक्की की घटना हुई। मुस्लिम युवक की गिरफ्तारी और हिंदू युवती को उसके स्वजन को सौंपे जाने की मांग करते हुए हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने दोपहर 12 बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक कटनी गुमला राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर दिया। जाम लगाने के लिए कार्यकर्ताओं ने सड़क पर धरना देकर वाहनों को आढ़ा तिरछा खड़ा कर यातायात को बाधित कर दिया। देर तक चली गहमागमी के बाद शाम लगभग चार बजे कलेक्टर डा. रवि मित्तल की अध्यक्षता में दोनों पक्षों की बैठक बुलाई गई। इसमें शहर सहित जिले में शांति व्यवस्था और सांप्रदायिक सौहार्द्र बनाए रखने पर चर्चा की गई। जशपुर नगरपालिका उपाध्यक्ष राजेश गुप्ता ने बताया कि बैठक में हिंदू युवती को उसके स्वजन को वापस सौंपने पर सहमति बनी है। इस सहमति के बाद चक्काजाम समाप्त कर दिया गया है।

घटना के विरोध में आज बंद रहेगा पत्थलगांव

जशपुर में प्रेम प्रसंग के आड़ में मतांतरण की घटना के विरोध में शुक्रवार को पत्थलगांव में बंद का आह्वान किया गया है। इसकी रणनीति बनाने के लिए गुरूवार को शहर के हरियाणा धर्मशाला में सर्व हिंदू समाज की बैठक आहूत की गई। बैठक में हिंदू समाज के प्रतिनिधियों ने नगर और इसके आसपास के क्षेत्र में बाहर से आकर बस रहे संदिग्ध लोगों पर खुलकर नाराजगी जाहिर जताई। सभी का मानना था कि प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी पूरी तरह से विफल रहें हैं। बिना जांच पड़ताल के इन बाहरी लोगों को राशन और आधार कार्ड सहित सरकारी दस्तावेज जारी करने पर भी नाराजगी जताते हुए इस ओर अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराने के लिए ज्ञापन सौंपने का भी निर्णय लिया गया है। बैठक में जशपुर में हुई घटना पर सभी ने नाराजगी जताई। लोगों का कहना था कि इस तरह की घटना से समाज में अविश्वास और असुरक्षा का माहौल बन गया है। लोगों को अपने स्वजनों की चिंता सताने लगी है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close