जशपुरनगर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। पत्थलगांव को जिला का दर्जा मिलने की उम्मीद फिलहाल पूरी होती नजर नहीं आ रही है। भेंट मुलाकात कार्यक्रम के तहत पत्थलगांव प्रवास पर पहुंचें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को आयोजित पत्रकारवार्ता में इस संबंध में मीडियाकर्मियों द्वारा पूछे गए सवाल सवाल को टालते हुए कहा कि पहले जो पांच जिलों का निर्माण किया गया है,वे ठीक से काम करने लगे फिर इस पर विचार किया जाएगा। मुख्यमंत्री के इस जवाब से घोषणा की उम्मीद लगाएं लोग मायूस हो गए।

मुख्यमंत्री के आगमन से पहले जिले की मांग को स्थानीय लोगों ने धरना प्रदर्शन भी किया था ताकि घोषणा की मांग की जा सके। प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकार वार्ता के दौरान शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार का मुद्दा भी उठा। उल्लेखनीय है कि शिक्षा विभाग में खनिज न्यास निधि और शाला अनुदान राशि समेत कई अलग.अलग मदों में स्कूलों के लिए आबंटित होने वाली राशि में भ्रष्टाचार एक अर्से से जिले के लिए चिंता का विषय रहा है। बार.बार मामले उठने के बाद भी उच्चाधिकारियों द्वारा ठोस कार्रवाई करने की बजाए ढुलमुल रवैया अपनाया जाता रहा है। वहीं शिक्षा विभाग के ज्यादातार प्रशासकीय पदों पर व्याख्याताओं का कब्जा है। पत्रकारों ने शिक्षा विभाग में नियमों को ताक पर रखकर प्रशासकीय पदों पर व्याख्याताओं की नियुक्ति को लेकर मुख्यमंत्री से सवाल पूछे। वहीं भ्रष्टाचार की ओर भी मुख्यमंत्री का ध्यानाकर्षण कराया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिला प्रवास के दौरान इन सभी विषयों पर संज्ञान लेने का भरोसा दिलाया है। वहीं भ्रष्टाचार की ओर भी मुख्यमंत्री का ध्यानाकर्षण कराया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिला प्रवास के दौरान इन सभी विषयों पर संज्ञान लेने का भरोसा दिलाया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने तीन साल में किए गए विकास कार्य और सरकार की उपलब्धियों का लेखाजोखा भी मीडिया के सामने रखा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close