जशपुरनगर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शुक्रवार पत्थलगांव में प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुए हादसे के विरोध में भाजपा के आह्वान पर जिला मुख्यालय पूरी तरह से बंद रहा। दुकानों में ताले लटके रहे और सड़कों पर सन्नााटा पसरा रहा। पत्थलगांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए शहर में भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। पुलिस की पेट्रोलिंग पार्टी लगातार गश्त कर रही है। हालांकि शहर में पूरी तरह से शांति व्यवस्था कायम है।

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को गांजा से भरे हुए एक तेज रफ्तार चार पहिया बेकाबू हो कर मां दुर्गा के प्रतिमा विसर्जन के लिए निकली शोभायात्रा के बीच घुस गई थी॥ इस हादसे में पत्थलगांव निवासी गौरव अग्रवाल की मौके पर ही मौत हो गई थी और 20 लोग घायल हो गए थे। घायलों में दो की हालत गंभीर बनी हुई है। इन्हें इलाज के लिए रायगढ़ से मेडिकल कालेज में भर्ती किया गया है। शेष घायलों का इलाज जिला चिकित्सालय में किया जा रहा है। इस बीच पुलिस ने दुर्घटनाकारित वाहन में सवार दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपित मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले के निवासी है। इस मामले में दो पुलिस अफसरों पर भी कार्रवाई की गाज गिरी है। एसपी विजय अग्रवाल ने पत्थलगांव के थाना प्रभारी संतलाल आयाम को लाइन अटैच करते हुए एएसआई केके साहू को निलंबित कर दिया है। लेकिन भाजपा मृतक गौरव अग्रवाल के स्वजनों के लिए 1 करोड़ और घायलों के लिए 25- 25 लाख रुपए मुआवजा की मांग पर अड़ी हुई है।

लखीमपुर खीरी पर भी तेज हुई राजनीति

पत्थलगांव में हुए भीषण सड़क हादसे के बाद उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसान आंदोलन के दौरान चार पहिया वाहन की चपेट में आने से 8 किसानों की हुई मौत की घटना का असर भी जिले में देखा जा रहा है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णदेव साय सहित भी नेता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा लखीमपुर के मृतकों को प्रदेश सरकार की ओर से 50 लाख रूपए मुआवजा दिए जाने का जिक्र करते हुए 1 करोड़ रुपए के मुआवजे की मांग पर अड़े हुए है। इनका कहना है कि जब मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश में मुआवजा दे सकते हैं छत्तीसगढ़ में क्यों नहीं। इसके साथ ही इंटरनेट मीडिया में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के साथ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पत्थलगांव आने को लेकर भी तीखी बहस की जा रही है।

--------

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local