कांकेर। नईदुनिया न्यूज

जिले के 427 ग्राम पंचायतों को 20 करोड़ छह लाख 45 हजार रुपये जारी किए गए है, 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत मूल अनुदान के लिए द्वितीय किस्त की राशि ग्राम पंचायतों को आबंटित किया गया है। इसके तहत ग्राम पंचायतें मूलभूत नागरिक सुविधाओं के स्तर को सुधारने जैसे जल आपूर्ति, सीवरेज तथा ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, सेप्टैज प्रबधन, स्वच्छता, जल निकासी सामुदायिक परिसंपत्तियों का रखरखाव इत्यादि सहित अन्य बुनियादी नागरिक सेवाओं के लिए उपयोग में ला सकेंगे।

जिला पंचायत कांकेर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे द्वारा जनपद पंचायत अंतागढ़ के 50 ग्राम पंचायतों के लिए दो करोड़ 10 लाख एक हजार 197 रुपये, भानुप्रतापपुर जनपद पंचायत के 51 ग्राम पंचायतों के लिए दो करोड़ 55 लाख 35 हजार 112 रुपये, जनपद पंचायत चारामा के 60 ग्राम पंचायतों के लिए दो करोड़ 84 लाख 59 हजार 773 रुपये, दुर्गूकोंदल जनपद पंचायत के 44 ग्राम पंचायतों के लिए एक करोड़ 89 लाख 11 हजार 314 रुपये, कांकेर जनपद पंचायत के 61 ग्राम पंचायतों के लिए दो करोड़ 82 लाख 69 हजार 756 रुपये, कोयलीबेडा जनपद पंचायत के 95 ग्राम पंचायतों के लिए चार करोड़ 73 लाख 13 हजार 729 रुपये और नरहरपुर जनपद पंचायत के 66 ग्राम पंचायत के लिए तीन करोड़ 11 लाख 54 हजार 119 रुपये जारी किए गए है।

अंतागढ़ विकासखण्ड के 50 ग्राम पंचायतों को दो करोड़ 10 लाख रुपये 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत मूल अनुदान के लिए अंतागढ़ विकासखण्ड के 50 ग्राम पंचायतों को दो करोड़ 10 लाख रुपये द्वितीय किस्त की राशि आबंटित किया गया है। इस विकासखण्ड के ग्राम पंचायत अमोड़ी को पांच लाख 15 हजार 44 रुपये, ग्राम पंचायत जेठेगांव को चार लाख नौ हजार 447 रुपये, मण्डागांव को तीन लाख 47 हजार 382 रुपये, मासबरस को चार लाख 89 हजार 453 रुपये, कानागांव को तीन लाख 57 हजार 383 रुपये, पोण्डगांव को चार लाख 20 हजार 36 रुपये, बड़ेतोपाल को पांच लाख 94 हजार 168 रुपये, हिमोड़ को तीन लाख आठ हजार 850 रुपये, कढ़ईखोदरा को तीन लाख 21 हजार 792 रुपये, नवागांव को चार लाख 52 हजार 980 रुपये, बुलावण्ड को चार लाख 95 हजार 42 रुपये, टेमरूपानी को चार लाख 80 हजार 923 रुपये, भैसासुर को चार लाख 70 हजार 922 रुपये, सुरेवाही को चार लाख 47 हजार 97 रुपये, कोदागांव को तीन लाख 42 हजार 676 रुपये, कलगांव को तीन लाख 18 हजार 556 रुपये, हिन्दूबिनापाल को तीन लाख 36 हजार 793 रुपये, गोडबिनपाल को चार लाख 63 हजार 569 रुपये, गोडरी को चार लाख 62 हजार 686 रुपये, आमागांव को पांच लाख तीन हजार 866 रुपये, बोन्दानार को चार लाख एक हजार 505 रुपये, कलेपरस को तीन लाख 42 हजार 382 रुपये, सरण्डी को छह लाख पांच हजार 346 रुपये, एडानार को चार लाख 73 हजार 276 रुपये तथा ग्राम पंचायत तालाबेड़ा को तीन लाख 18 हजार 851 रुपये्रआबंटित किया गया है।

इसी प्रकार ग्राम पंचायत भैसगांव को पांच लाख 79 हजार 755 रुपये, ताड़ोकी को चार लाख 87 हजार 100 रुपये, कोसरोण्डा को तीन लाख 32 हजार 675 रुपये, मंगतासाल्हेभाट को तीन लाख 34 हजार 440 रुपये, कोलर को पांच लाख 75 हजार 49 रुपये, बैहासाल्हेभाट को पांच लाख 50 हजार 47 रुपये, बड़ेपिजोड़ी को चार लाख 36 हजार 508 रुपये, बोड़ागांव को तीन लाख 22 हजार 969 रुपये, उसेली को तीन लाख 32 हजार 87 रुपये, गुमझीर को तीन लाख नौ हजार 144 रुपये, तुमसनार को तीन लाख 83 हजार 856 रुपये, बेलोण्डी को चार लाख 21 हजार 801 रुपये, नागरबेड़ा को चार लाख एक हजार 799 रुपये, टिमनार को चार लाख 54 हजार 156 रुपये, पुपगांव को तीन लाख 71 हजार 796 रुपये, आमाबेड़ा को छह लाख एक हजार 522 रुपये, कोलीयारी को चार लाख 15 हजार 624 रुपये, अर्रा को तीन्रलाख 77 हजार 91 रुपये, आलानार को तीन लाख 24 हजार 439 रुपये, मातला ब को तीन लाख 57 हजार 677 रुपये, बड़ेटेवड़ा को चार लाख 73 हजार 864 रुपये, करमरी को तीन लाख 31 हजार 793 रुपये, मुल्ले को दो लाख 95 हजार 319 रुपये, बाण्डापाल को चार लाख 18 हजार 271 रुपये और ग्राम पंचायत देवगांव को चार लाख 32 हजार 390 रुपये आबंटित किया गया है।

उक्त राशि का उपयोग ग्राम पंचायतों द्वारा मूलभूत नागरिक सुविधाओं के स्तर को सुधारने जैसे जल आपूर्ति, सीवरेज तथा ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, सेप्टैज प्रबधन, स्वच्छता, जल निकासी सामुदायिक परिसंपत्तियों का रखरखाव इत्यादि सहित अन्य बुनियादी नागरिक सेवाओं के लिए उपयोग में लाया जा सकेगा।

-----------------------------------