कांकेर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पद पर न रहते हुए फर्जी तरीके से कूट रचना कर लाखों रुपये की राशि का भुगतान करने के आरोप में सब इंजीनियर के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है। सीजीएमएससी के कार्यपालन अभियंता ने सब इंजीनियर के खिलाफ पखांजूर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है जिसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

प्रभारी कार्यपालन अभियंता सीजीएमएससी लिमि. बस्तर संभाग छत्तीसगढ़ एआर जाटव पुलिस थाना पखांजूर में रिपोर्ट दर्ज कराई है। जिसमें आकाश साहू (उप अभियंता संविदा) प्रभारी सहायक अभियंता व तत्कालीन प्रभारी कार्यपालन अभियंता सीजीएमएससी लिमि. बस्तर संभाग द्वारा 50 बिस्तर मातृ एवं शिशु अस्पताल पखांजूर जिला कांकेर के निर्माण में छल कपट कूट रचित, फर्जी बिल, तैयार करवाकर गंभीर आर्थिक अनिमितताएं कर शासन को कुल 3054294 रुपये की छति पहुंचाने का आरोप लगाया है।

उन्होंने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उक्त निर्माण कार्य का कार्यादेश मेसर्स शंकरा इंटरप्राईसेस शंकरा निलयम, दर्रीपारा, आजाद चौक के पास, कवर्धा, जिला काबीरधाम को जारी किया गया था। आकाश साहू (उप अभियंता संविदा) प्रभारी सहायक अभियंता व तत्कालीन प्रभारी कार्यपालन अभियंता सीजीएमएससी लिमि. बस्तर संभाग द्वारा 50 बिस्तर मातृ एवं शिशु अस्पताल पखांजूर जिला कांकेर में नौवें व अंतिम देयक की कुल राशि 5219433 में कार्यापालन अभियंता के प्रभार में नहीं होते हुए भी कूट रचित, फर्जी बिल तैयार करवाकर दो जून 2020 को हस्ताक्षर किए, इसमें 125 केव्हीए का एक डीजी लागत 1230771 रुपये और 200 केव्हीए का एक डीजी लागत 1823523 रुपये कुल लागत रुपये 3054294 के डीजीसेट कार्य स्थल पर नहीं लगाए गए थे। फिर भी फर्जी बिल को हस्ताक्षर कर भुगतान के लिए प्रस्तुत किया गया। अधीक्षण अभियंता सीजीएमएससी लिमि. रायपुर ने चेक से भुगतान करवाया।

इसमें शासन को 3054294 रुपये की क्षति पहुंचाई। खंड चिकित्सा अधिकारी कोयलीबेड़ा कांकेर के द्वारा उल्लेख किया गया है कि 9 सितंबर 2021 के पूर्व 125 केव्हीए का एक डीजी सेट व 200 केव्हीए का एक डीजी सेट नहीं लगे थे। थाना प्रभारी पखांजूर एमडी देशमुख ने बताया कि ने बताया कि प्रभारी कार्यपालन अभियंता सीजीएमएससी लिमि. बस्तर संभाग छत्तीसगढ़ एआर जाटव ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उप अभियंता आकाश साहू ने पद पर न रहते हुए फर्जी तरीके से बिल का भुगतान किया और अस्पताल भवन में लगाए जाने वाले 2 जनरेटर नहीं लगे होने के बाद भी भुगतान किया। जिस पर रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना में लिया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local