अंतागढ़ (नईदुनिया न्यूज)। वर्षों के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार अंतागढ़ क्षेत्रवासियों का दशकों पुराना देखा सपना साकार हो ही गया, अंतागढ़ में शनिवार 13 अगस्त को यात्री रेल का परिचालन शुरू हो गया। जिसे देखने और उसमे बैठकर क्षेत्र के विकास में रेल परिचालन के शुरू होने के इतिहास के गवाह बनने का अरमान लिए सैकड़ों लोगों ने अंतागढ़ से भानप्रतापपुर तक का सफर किया।

आस पास के क्षेत्र से लोग बड़ी संख्या में यात्री ट्रेन को देखने और उसमे सफर करने अंतागढ़ स्टेशन सुबह से ही पहुंचने लगे थे। डेमो ट्रेन अंतागढ़ स्टेशन सुबह सात बजे ही पहुंच गई थी, जहां उसे गुब्बारों से और तिरंगे रंग के झालर से सजाया गया, करीब बारह बजकर तीस मिनट में टिकिट काउंटर खोला गया, जिसमे सर्वप्रथम अंतागढ़ निवासी सिराज खान ने टिकिट लिया इसके साथ ही सिराज खान अंतागढ़ यात्री ट्रेन के पहले टिकिट लेने वाले व्यक्ति बन गए।

बता दें करीब बारह बजे से कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया, जिसके अंतर्गत अंतागढ़ के विधायक अनूप नाग द्वारा कार्यकर्ताओं के साथ हाथ में तिरंगा लिए अंतागढ़ रेल्वे स्टेशन तक पदयात्रा करते हुए पहुंचे। वही सांसद मोहन मंडावी भी अपने कार्यकर्ताओं के साथ तिरंगा लेकर मोटरसाइकिल में सवार होकर अंतागढ़ के रेल्वे स्टेशन पहुंचे।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि संसदीय क्षेत्र कांकेर के सांसद मोहन मंडावी रहे एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में क्षेत्रीय विधायक अनूप नाग थे, साथ ही पूर्व विधायक एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सह पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे विक्रम देव उसेंडी, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश लाटिया, पूर्व विधायक भोजराज नाग एवं अन्य कांग्रेसी व भाजपा के कार्यकर्ता भारी संख्या में स्टेशन में मौजूद थे।

सांसद मोहन मंडावी ने अपने संबोधन में कहा कि अंतागढ़ जैसे संवेदनशील क्षेत्र में रेल का परिचालन होना एक बहुत बड़ी उपलब्धि है, आज का दिन अंतागढ़ के इतिहास में गौरवशाली दिन माना जाएगा। उन्होंने कहा कि अंतागढ़ क्योंकि आसपास क्षेत्रों में सबसे पुरानी बसावट है इसलिए अंतागढ़ के विकास में किसी भी प्रकार की दुविधा नहीं होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि रेल मंडल को चाहिए की अंतागढ़ से ही ही रेल बननी चाहिए और रायपुर से वापस आकर अंतागढ़ में ही रुकनी चाहिए, जिससे यहां के लोगों को बस एवं अन्य साधनों से रायपुर आने जाने में जो दिक्कतों का सामना करना पड़ता है वह दूर हो सके इसके साथ ही उन्होंने रेल्वे के अधिकारियों से कहा कि यात्री ट्रेन रायपुर से बढ़ाकर बिलासपुर तक करने की आवश्यकता है, ताकि लोग अपने कार्यों के लिए हाईकोर्ट तक आसानी से आ जा सकें।

विधायक विधायक अनूप नाग ने क्षेत्रवासियों को अंतागढ़ में रेल परिचालन आरंभ होने के लिए बधाई दी साथ ही सांसद मोहन मंडावी का भी आभार जताया, कि वे अंतागढ़ को लेकर इतने संवेदनशील हैं। नाग ने कहा कि अंतागढ़ के इतिहास में यह गौरवशाली दिन है जो सालों तक याद किया जाएगा। लोगों को अब आसानी से और कम किराए में रायपुर आने जाने की सुविधा मिलेगी, साथ ही अन्य सामानों के परिवहन में भी आसानी होगी। क्षेत्र के युवा जो रायपुर-दुर्ग-भिलाई आदि शहरों में पढ़ाई कर रहे हैं, उनके लिए भी यह रेल संजीवनी का काम करेगी।

अंतागढ़ स्टेशन में क्षेत्र के अंचल से आदिवासी वेशभूषा में युवक युवतियां भी पहुंची थीं, जिन्होंने आज तक रेल का सफर नहीं किया था, उनसे बात करने पर पता चला कि विधायक अनूप नाग ने उन्हें रेल यात्रा करने के लिए बुलाया है, यह सभी युवक एवं युवतियां ग्राम कोटनखोड एवं आसपास के रहवासी थे ग्राम कोटनखोड़ निवासी राजूराम ने बताया कि हम यहां से भानुप्रतापपुर तक रेल में जाएंगे और वहां से विधायक द्वारा कराई गई बस से वापस अपने गांव जाएंगे, इन युवाओं ने रेल में यात्रा कराने के लिए विधायक अनूप नाग का आभार जताया।

बता दें, करीब एक बजकर पैंतीस मिनट पर सांसद मोहन मंडावी, विधायक अनूप नाग व पूर्व मंत्री विक्रम उसेंडी द्वारा डेमो ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रायपुर के लिए रवाना किया गया, साथ ही मुख्य अतिथि सांसद मोहन मंडावी सह विधायक अनूप नाग, विक्रम उसेंडी, सतीश लाटिया, पूर्व विधायक भोजराज नाग ने डेमो ट्रेन में बैठकर भानुप्रतापपुर तक का सफर भी किया। इस कार्यक्रम में प्रशासनिक अमला साथ ही पुलिस प्रशासन के साथ रेल्वे के उच्चाधिकारी मौजूद रहे, जिन्होंने इस कार्यक्रम के सफल आयोजन में अपनी महती भूमिका निभाई।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close