कांकेर। प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। जिपं कांकेर के सभाकक्ष में आयोजित राजीवगांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना व भूमिहीन ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना के हितग्राहियों को राशि का अंतरण कार्यक्रम रखा गया। पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीवगांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर जनप्रतिनिधियों, किसानों और अधिकारी कर्मचारियों ने आतंकवाद विरोधी शपथ लिया।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्यअतिथि छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण के अध्यक्ष मिथिलेश स्वर्णकार, विशिष्ट अतिथि छत्तीसगढ़ विस उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी, संसदीय सचिव व विधायक शिशुपाल शोरी, अंतागढ़ विधायक अनूप नाग, अनुसूचित जनजाति आयोग के सदस्य नितिन पोटाई, गोसेवा आयोग के सदस्य नरेंद्र यादव, बस्तर विकास प्राधिकरण के सदस्य बिरेश ठाकुर, जिला पंचायत के अध्यक्ष हेमत ध्रुंव,

उपाध्यक्ष हेमनारायण गजबल्ला, नगर पालिका अध्यक्ष सरोज जितेंद्र ठाकुर, जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष सुभद्रा सलाम, जिला पंचायत सदस्य नरोत्तम पड़ोटी, मिथलेश शोरी, जनपद सदस्य राजेश भास्कर, सियो पोटाई, कलेक्टर चंदन कुमार, अपर कलेक्टर सुरेंद्र प्रसाद वैद्य, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुमीत अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अधिकारी और बड़ी संख्या में कृषकगण

मौजूद थे।

वक्ताओं ने बताया कि किस तरह से अपनी माता स्व. इंदिरा गांधी की हत्या के उपरांत यह जानते हुए भी कि स्वयं उनकी जान को भी खतरा है राजीव गांधी ने चुनौती स्वीकार करते हुए देश की बागडोर संभाली और इसे बखूबी निभाया। स्व राजीव गांधी के काल मे ही टेक्नालाजी के फील्ड में खूब तरक्की देश ने की। स्व. गांधी को देश में कम्प्यूटर लाने का श्रेय हासिल है। इसके अलावा भी कई उल्लेखनीय कार्य भी उनके काल मे हुए जिनमे आज की सक्षम पंचायती राज व्यवस्था भी शामिल है, जिसके तहत गांवों को निर्णय लेने का अधिकार मिला। इस अवसर पर कांग्रेसियों ने आतंकवाद विरोधी शपथ भी लिया। इस अवसर पर स्व. राजीव गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की गई

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close