बड़गांव। कंदाड़ी में पचास गांवों के ग्रामीणों ने ग्राम सभा आयोजित कर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। इस ग्राम सभा में सैकड़ों की संख्या में महिला पुरुष शामिल हुए। गौरतलब है कि बांस कटाई को लेकर शासन ने दर निर्धारित की है। परन्तु शासन द्वारा निर्धारित दर का विरोध करते हुए ग्रामीणों ने पेशा कानून ग्राम सभा के तहत अपनी दर निर्धारित की है। ग्राम पंचायत कंदाड़ी में आयोजित पेशा कानून ग्राम सभा में आसपास के लगभग पचास गांव के ग्रामीण एकजुट हुए और बांस कटाई के संबंध में प्रस्ताव पारित किया गया।

रामजी कचलामी की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि 7.30 मीटर बांस को 50 रुपये, 6.50 मीटर बांस को 40 रुपये, 5.50 मीटर बांस को 35 रुपये, दो मीटर बांस को 50 रुपये, एक मीटर बांस को 25 रुपये, औऱ प्रतिदिन मजदूरी दर 400 रुपये करने और स्वयं स्थाई ग्राम सभा बांस का विक्रय व वन व्यस्थापन कार्य करने का सर्व सम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया है। साथ ही शासन प्रशासन को तीन दिन की मोहलत भी दी गई है।

तीन दिनों में मांग पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन करते हुए सडकजाम करने की चेतावनी भी दी है। साथ ही ग्रामीणों को राजस्व पट्टा देने की मांग करते हुए ग्रामीणों ने कहा कि राजस्व पट्टा नहीं होने के चलते शासन द्वारा प्रदत्त कई योजनाओं का लाभ से वंचित होना पड़ता है। जिसके लिए ग्रामीणों को राजस्व पट्टा देने की मांग और धान खरीदी के दरमियान सरकारी कर्मचारियों के जरिए धान खरीदी करने की मांग की गई। गज्जू उसेंडी, मैनी कचलामी ने कहा कि संविधान द्वारा पांचवी अनसूची क्षेत्र में जल जंगल जमीन के लिए ग्राम सभा के प्रस्ताव को मानना जरूरी है। हमारे ग्राम सभा द्वारा पारित प्रस्ताव के दर पर बांस कटाई का भुगतान सरकार नही करती है तो क्षेत्र में बांस कटाई नहीं होगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local