0- जवानों का लिया सैम्पल, आसपास का एरिया कंटेंटमेंट जोन घोषित

बड़गांव। नईदुनिया न्यूज

वैश्विक समस्या बन चुकी कोरोना वायरस का प्रकोप बड़गाँव इलाके में भी पहुंच चुका है। दरअसल बड़गाँव बीएसएफ कैम्प में बीएसएफ के एक जवान कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। जवान के कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद से बड़गाँव इलाके में प्रशासन का अमला पहुंच गई और बाकि जवानों के सेम्पल लिए गए। पॉजिटिव पाया जवान हाल ही में छुट्टी से आया था। इसके बाद बीएसएफ कैंप में ही जवान को क्वारंटाइन किया गया था।

बहरहाल स्वास्थ विभाग की टीम बड़गाँव पहुंचकर जवानों के सेम्पल ले रही है। साथ ही थाना के आसपास के एरिया को कंटेंटमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। दुकानों को बंद कर आवाजाही पर पाबंदी लगा दी गई है। जवान के पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद से जवान की ट्रेवल हिस्ट्री खंगाली जा रही है। साथ ही बड़गाँव में विभाग की टीम घर घर जाकर सर्वे कर रही है।

कोयलीबेड़ा बीएमओ डॉक्टर डीके सिन्हा ने बताया कि बीएसएफ जवान के कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद से बाकी जवानों के सैम्पल लिए गए है। सिन्हा ने नईदुनिया से अपील की है कि इस घातक बीमारी से बचने के लिए सबसे बड़ा उपाय है कि घरों में रहे। अति आवश्यक होने पर ही घरों से बाहर निकले। लेकिन मास्क लगाना न भूले। साथ ही शारीरिक दूरी के नियमों का पालन सबसे जरूरी है।

-----------------

कोदापाखा क्वारंटाइन केंद्र का आयुर्वेद चिकित्सक ने किया निरीक्षण

फोटोः 16 कांकेर 8 मेड़ो क्वारंटाइन केंद्र में स्वास्थ्य की जानकारी लेते चिकित्सक

0- रोग प्रतिरोधात्मक बढ़ाने काढ़ा का सेवन करने की सलाह

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

शासकीय आयुर्वेद औषधालय कोदापाखा के कर्मचारियों द्वारा क्वॉरंटाइन केंद्र मेडो बांगाचार का निरीक्षण किया गया और क्वारंटाइन में रखे गए लोगों का स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेकर होम क्वारंटाइन के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के औषधि एवं काढा 15 दिनों के लिए दिया। आयुर्वेद अधिकारी डॉ. केवी गोपाल की उपस्थिति में होम क्वारंटाइन के महत्व बताया।

कोविड-19 से बचाव के उपाय को अपनाने के लिए कहा एवं शरीर को स्वस्थ्य बनाए रखने में उसके प्राकृतिक रूप प्रतिरोधक प्रणाली को भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है। इस रोग से बचने के लिए शरीर को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय करना ही बेहतर है। सामान्य आयुर्वेदिक उपाय जैसे सुबह शाम तीन नारियल का तेल या घी नाक के दोनों छिद्रों में लगाएं, केवल एक चम्मच तिल, नारियल तेल को मुंह में दो से तीन मिनट तक रखे। खांसी गले में खराश के लिए दिन में कम से कम एक बार पुदीना के पत्ते अजवाइन डालकर पानी को भाप लें। खांसी-गले में खराश होने पर लौंग के चुर्ण में गुड़ या शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार इसका सेवन करें।

इसके अलावा सोठ के पाउडर में लहसुन मिलाकर सेवन करने से मरीजों की इम्यूनिटी ताकत बढ़ती है। सौंठ में वात न कफ नामक एंटी बैक्टीरियल गुण मौजूद होते है। पाचन शक्ति को बढ़ाने के साथ भूख कम लगने व सुस्ती को दूर करने की भी इसमें गुण पाए जाते हैं। वहीं लहसुन वात नाशक एंटीवायरल एंटी बैक्टीरियल एंटी फंगल व कोलेस्ट्रोल को कम करने में सहायक होता है। यह जोड़ों का दर्द कम करने के साथ ही दिल का ब्लैकेज तक दूर कर देता है। यह बेहतरीन एक दोष नाशक है।

डॉक्टर केवी गोपाल ने हरी पत्तेदार मौसम के अनुसार मिलने वाली चौलाई, भतुआ, चरोटा, चेंच, करमता जैसी भाजी रोग प्रतिरोधक क्षमता बनाए रखने में अधिक कारगर है। एंटी ऑक्सीडेंट गुण के आधार पर कोरोना से लड़ने में यह सक्षम है। औषधालय के कर्मचारी सविता कोमरे, सोनाराम नेताम, जगदीश मरकाम के अलावा पंच जंगलू राम, समरथ, जागेश्वर मारिया एवं ग्रामीण उपस्थित थे।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan