0- उलझन : कांकेर जिले में करीब 12 फीसद किसान बेच ही नहीं पाए धान

कांकेर, (नईदुनिया न्यूज)।

कांकेर जिले में सरकार से पूर्व निर्धारित धान खरीदी के लक्ष्य 26 लाख 58 हजार 600 क्विंटल से अधिक 27 लाख 27 हजार 517 क्विंटल धान खरीदा गया है। यानी 68 हजार 917 क्विंटल धान की अधिक खरीदी की गई। गौरतलब है कि जिले में पंजीकृत 74250 किसानों में से धान खरीदी के अंतिम दिन तक 65506 कृषकों ने समर्थन मूल्य पर धान की बिक्री थी। इस तरह 8 हजार 768 कृषक आखिरी दिन तक धान बेच नहीं पाए। तो फिर करीब 69 हजार क्विंटल अधिक धान की खरीदी कैसे हो गई। जिले के कई खरीदी केंद्रों और गांवों में धान खरीदी की तिथि नहीं बढ़ाए जाने के कारण खासी नाराजगी देखी गई।

राष्ट्रीय किसान कांग्रेस समन्वय समिति के संयोजक सोनऊराम नेताम ने कहा कि बारदाना के अभाव में कई खरीदी केन्द्रों में किसान अपना धान नहीं बेच सके हैं। सरोना क्षेत्र में भी 14 फरवरी से धान खरीदी बंद हो गई थी। सभी किसानों का धान नहीं बिक पाने की स्थिति में भी सरकार ने धान खरीदी की अंतिम तिथि नहीं बढ़ाई है। सरकार को अंतिम तिथि बढ़ाई जानी चाहिए। अगर ऐसा नहीं होने पर आंदोलन किया जाएगा।

आंकड़ों से समझे स्थिति-

0- 26 लाख 58600 क्विंटल धान खरीदने की लक्ष्य मिला था कांकेर जिले को

0- 27 लाख 27517 क्विंटल धान की आखिरी दिन तक की जा चुकी है खरीदी

0- 74 हजार 250 पंजीकृत किसान है कांकेर जिले में

0- 65 हजार 506 किसानों ने खरीदी केंद्रों में जाकर बेचा धान

0- 08 हजार 768 किसान ऐसे हैं जो आखिरी दिन तक नहीं बेच पाए धान

0- 68 हजार 917 क्विंटल धान को लक्ष्य से अधिक कैसे खरीदा गया इतने किसानों को छोड़कर

Posted By: Nai Dunia News Network