कांकेर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में ऊपर-नीचे रोड से दूध नदी पुल तक लगभग तीन करोड़ की लागत से सीसी सड़क का निर्माण इसी वर्ष ही पूर्ण हुआ था लेकिन निर्माण कार्य पूर्ण हुए तीन माह का समय ही बीता है और सीसी सड़क जगह-जगह से उखड़ने लगी है।

सड़क ऊपरी सतह से गिट्टी निकलने लगी है, जो लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। तीन माह में ही सड़क के उखड़ने से इसकी गुणवत्ता का अंदाजा लगाया जा सकता है।

शहर के बीच से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 30 के अत्यधिक सकरे होने के चलते इसके चौड़ीकरण व सीमेंटीकरण के लिए जून 2020 में भूमिपूजन हुआ था। जिसके कुछ समय बाद निर्माण कार्य शुरू किया गया था। जिसमें 10 मीटर चौड़ी सड़क बनाने की योजना थी, लेकिन बाद में शहर में कई जगहों पर सड़क की चौड़ाई कम होने और लोगों से जगह नहीं मिलने के चलते सड़क सभी जगहों पर 10 मीटर चौड़ी नहीं बन सकी थी। सड़क निर्माण कार्य कच्छप चाल से चल रहा था और जिसके चलते निर्माण कार्य के दौरान भी शहरवासियों का काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। वहीं जनवरी 2021 में सड़क का निर्माण कार्य पूरा हुआ था।

हालाकि निर्माण कार्य के दौरान भी गुणवत्ता को लेकर कई सवाल उठे थे। वहीं अब जगह-जगह पर सड़क की ऊपरी सतह उखड़ रही है, जो सड़क निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर फिर से सवाल खड़ा कर रही है। हालाकि उखड़ रही सड़क को बचाने के लिए डामर की लिपापोती की जा रही है। जिससे तेजी से उखड़ रही सड़क को उखड़ने से बचाया जा सके। पूर्व पार्षद व समाजसेवी अजय पप्पू मोटवानी ने कहा कि सड़क निर्माण के दौरान शहरवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा था, लेकिन उन्हें उम्मीद थी कि सड़क निर्माण के बाद उन्हें बेहतर सड़क मिल सकेगी। लेकिन निर्माण कार्य पूर्ण हुए अभी कुछ ही महीने बीते हैं और सड़क कई जगह से उखड़ती नजर आ रही है। जिससे सड़क की गुणवत्ता को लेकर सवाल उठना स्वाभाविक है।

सड़क पर चढ़ाई जा रही डामर व इमलशन की परत

राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग के एसडीओ संतोष नेताम से पूछे जाने उन्होंने बताया कि सड़क में कुछ जगहों पर ऊपरी सतह खराब हुई है। सीसी सड़क निर्माण के बाद उसे पूरी तरह उपयोग के लिए तैयार होने में 21 दिनों का समय लगता है। 21 दिन के पहले नवनिर्मित सड़क पर वाहनों की आवाजाही नहीं होनी चाहिए। लेकिन कांकेर में निर्माण कार्य के दौरान डायवर्सन के लिए वैकल्पिक सड़क नहीं होने के कारण ही निर्माण कार्य के बाद कुछ ही दिनों में सड़क पर वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई थी, जिसके कारण कुछ जगहों पर सड़क खराब हो गया है। जिन जगहों पर सड़क निर्माण के दौरान वैकल्पिक मार्ग से वाहनों का आवागमन हो रहा था, वहां सड़क अच्छी है और उसकी परत नहीं उखड़ी है। सड़क निर्माण की गुणवत्ता खराब होने पर सड़क पर दरारें आ जाती हैं, लेकिन इस प्रकार की कोई शिकायत नहीं है। ऊपर-नीचे रोड के पहले, पेट्रोल पंप से कचहरी चौक तक ऊपरी सहत सबसे ज्यादा उखड़ रही थी, जहां डामर की परत चढ़ाई गई है, जिससे सड़क न उखड़े। साथ ही अन्य जगहों पर सड़क पर इमलशन की परत चढ़ाई जा रही है, जिससे सड़क की ऊपरी परत सुरक्षित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags