पखांजूर (नईदुनिया न्यूज)। परलकोट मछुआ कल्याण समिति के नाम पर 17 सदस्यों की टीम ने मत्स्य विभाग कांकेर के माध्यम से दाना फैक्ट्री निर्माण के नाम पर एक करोड़ रुपया सब्सिडी के तौर पर प्राप्त किया था। आज 2-3 वर्ष हो चुका है दाना फैक्ट्री का निर्माण अधर में लटका है, जबकि समिति द्वारा पिछले दो वर्ष पूर्व फैक्ट्री निर्माण के नाम पर एक करोड़ रुपये पखांजूर बैंक से आहरण कर बंदरबाट कर लिया गया। समिति के सदस्य इंद्रजीत ने बताया कि एक करोड़ रुपये का आहरण वर्ष 2018 में हुआ था। इन रुपयों से सिर्फ टिन के सेड का निर्माण हो पाया और कुछ काम नहीं हुआ। समिति द्वारा पूरे फैक्ट्री निर्माण कलकत्ता के एक कंपनी को सौंप दिया गया था। बाद में बिना जानकारी के सदस्यों को अंधेरे में रखकर समिति के अध्यक्ष सुरेश शील ने कलकत्ता के ठेकेदार एके कोलिया को फैक्ट्री निर्माण का संपूर्ण कार्य ठेके में दे दिया। बाद में अध्यक्ष ने बिना बैठक व सदस्यों को सूचना दिए कलकत्ता के ठेकेदार से शंकर कंस्ट्रक्शन के नाम से पेटी में ठेका लेकर फैक्ट्री निर्माण करने की रजामंदी ले ली। इधर किसी भी सदस्य को इसकी जानकारी तक नहीं है। चूंकि पखांजूर से कलकत्ता की दूरी अधिक देखकर कलकत्ता के कंपनी ने स्थानीय ठेकेदार को पेटी में कार्य देने के लिए राजी हो गया। वहीं फैक्ट्री निर्माण का कार्य अपूर्ण देख बैंक से सभी सदस्यों को नोटिस भेजा गया, तब सभी सदस्यों ने बैठक कर पतासाजी की तो पाता चला समिति के अध्यक्ष ने लगभग आधा करोड़ रुपये अपने व्यक्तिगत खाते में कलकत्ता से ट्रांसफर करवा लिए थे। अब बैंक और मत्स्य विभाग के अधिकारी नोटिस भेजकर कार्रवाई की बात कह रहे हैं।

समय मांगा है : बीना गढ़पाले

इस संबंध में बीना गढ़पाले जिला अधिकारी उप-संचालक मत्स्य कांकेर ने बताया कि समिति ने समय मांगा है। बहुत जल्द कार्य पूर्ण किया जाएगा, पूर्ण नहीं होने के स्थिति में संपूर्ण पैसे की वसूली होगी।

इस संबंध में जानकारी नहीं : सुरेश

इस संबंध में सुरेश शील अध्यक्ष परलकोट मछुआ कल्याण समिति ने बताया कि इस बारे में कोई भी जानकारी नहीं हैं सभी जानकारी मिंटू और देवरात शील को है, आप उन्हीं से पूछ लीजिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस