कांकेर। नईदुनिया न्यूज

जिले में बाहर से आये व्यक्तियों का घर-घर जाकर सर्वे करने तथा कोराना के संदेहस्पद मरीजों की जिला स्तर पर सूचना प्रदान करने और उन पीड़ित मरीजों की स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपचार कराये जाने की व्यवस्था के लिए कलेक्टर व जिला दण्डाधिकारी केएल चौहान द्वारा जिला स्तरीय और विकासखंड स्तरीय सतत निगरानी प्रकोष्ठ गठित किया गया है। इसमें जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे को अध्यक्ष तथा मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जेएल उईके, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला व बाल विकास विभाग सीएस मिश्रा, जिला शिक्षा अधिकारी राकेश पाण्डे, खनिज अधिकारी प्रमोद नायक, सहायक खाद्य अधिकारी टीआर ठाकुर और मुख्य नगर पालिका अधिकारी सौरभ तिवारी को सदस्य बनाया गया है।

विकासखंड स्तरीय सतत निगरानी प्रकोष्ठ

ग्राम पंचायतों में बाहर से आए व्यक्तियों का घर-घर जा कर सर्वे करने तथा कोरोना वायरस के संदेहास्पद मरीजों की जिला स्तर पर सूचना प्रदान करने तथा उन पीड़ित मरीजों की स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपचार कराये जाने की व्यवस्था के लिए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे की अध्यक्षता में सभी जनपद पंचायत में विकासखंड स्तरीय सतत निगरानी प्रकोष्ठ का गठन किया गया है। इस प्रकोष्ठ में नरहरपुर विकासखंड से मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी, खण्ड स्त्रोत समन्वयक, मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पंचायत को सदस्य बनाया गया है।

चारामा विकासखंड में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी, खण्ड स्त्रोत समन्वयक, मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पंचायत तथा भानुप्रतापपुर विकासखंड में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, खण्ड षिक्षा अधिकारी, खण्ड स्त्रोत समन्वयक, मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पंचायत और अंतागढ़ विकासखंड में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी, खण्ड स्त्रोत समन्वयक, मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पंचायत को सदस्य बनाया गया है।

इसी प्रकार कोयलीबेड़ा विकासखंड में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी, खण्ड स्त्रोत समन्वयक को तथा दुर्गूकोंदल विकासखंड में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी, खण्ड स्त्रोत समन्वयक को सदस्य बनाया गया है।

आसपास के 50 घरों का सर्वे

उक्त निगरानी दल जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के मार्गदर्शन में यह सुनिश्चित करेगी कि अन्य देश या अन्य राज्य से जिले में आये व्यक्ति जो होम आइसोलेशन में रखे गए है, उसके घर के आसपास के 50 घरों का सर्वे करेगी। उक्त व्यक्ति के घर के आसपास के 50 घरों के ऐसे व्यक्ति जो किसी कारण से होम आइसोलेशन में रखे गए व्यक्ति या उसके परिवार के किसी सदस्य के सम्पर्क में आए हों तो उन पर नजर रखेगी कि किसी प्रकार का लक्षण तो प्रदर्शित नहीं हो रहा है। ऐसे व्यक्तियों की जानकारी प्रतिदिन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत के माध्यम से मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी को निर्धारित प्रारूप में उपलब्ध कराएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network