कांकेर। नईदुनिया प्रतिनिधि

बालिकाओं और महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को देखते हुए प्रदेश के अन्य जिलों की तर्ज पर कांकेर में भी स्कूल-कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं को जागरूक करने और उन्हें सशक्त बनाते हुए आत्मरक्षा का हुनर सिखाने की तैयारी पुलिस ने कर ली है। इसके लिए पुलिस विभाग ने जिले में रक्षा टीम का गठन किया है, जो जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में काम करेगी।

जिला पुलिस महिलाओं और बच्चों के विरुद्ध हो रहे अपराधों को गंभीरतापूर्वक निराकरण करने के लिए कार्रवाई करती रही है। पिछले चार महीनों में जिले से अपहृत बच्चों एवं गुम महिलाओं की पता तलाश कर पुलिस ने उन्हें उनके परिजनों तक पहुंचाया है। इसी कड़ी अब पुलिस अपराध घटित होने से रोकने के लिए जिले में रक्षा टीम का गठन किया गया है। जिले के चारों अनुभाग कांकेर, भानुप्रतापपुर, अंतागढ़ व पखांजूर में रक्षा टीम का गठन किया गया है। जिले में रक्षा टीम के 23 सदस्य है। टीम के पूरे जिले के नोडल अधिकारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर को बनाया गया है। साथ ही चारों अनुविभाग के एसडीओपी सहायक नोडल अधिकारी होंगे। टीम का प्रभारी अधिकारी निरीक्षक मल्लिका बैनर्जी को नियुक्त किया गया है। स्कूल व कॉलेज में छात्राओं को साथ होने वाली घटनाओं को रोकने की दिशा में इसे कांकेर पुलिस का सराहनीय कदम बताया जा रहा है।

बाक्स

कैसे काम करेगी टीम

रक्षा टीम के कार्य को लेकर टीम को प्रशिक्षण दिया गया है। चारों टीम जिले के सभी स्कूलों में जहां बालिकाएं पढ़ती हैं, वहां जाकर उन्हें कानून की जानकारी देते हुए उन्हें अधिकारों के प्रति जागरूक करेगी। साथ ही यह बालिकाओं को आत्मरक्षा का हुनर भी सिखाएगी। इसके लिए रक्षा टीम को प्रशिक्षण के लिए राजनांदगांव भेजा गया था।

बाक्स

कौन सी टीम कहां करेगी कार्य

कांकेर क्षेत्र में महिला आरक्षक सुरेखा सलाम, तेजेश्वरी कुंजाम, दिव्या वट्टी, अंजू मंडावी, ममता टांडिया, पद्मनी साहू, भानुप्रतापपुर क्षेत्र में महिला आरक्षक अमिता पारकर, अंजना कश्यप, सगनी पोटाई, फूलबती सोरी, रमीला गावड़े, निर्मोतिन कटकवार, अंतागढ़ क्षेत्र में महिला आरक्षक रूमन ध्रुव, संतोषी, अरजोतिन मरकाम, निर्मला मरकाम, नीलू कोमरे और अनुविभाग पखांजूर में महिला आरक्षक जागेश्वरी सलाम, ममता मंडावी, अन्नपूर्णा नाग, रोवती पायो, सुभद्रा सोरी, उमेश्वरी मानिकपुर को टीम में शामिल किया गया है।