दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

तीन-चार दिनों से हो रही बारिश से जनजीवन प्रभावित हो गया है। किसानों के लिए यह बारिश अब आफत बन गई है। गरज चमक के साथ हो रही तेज बारिश से खेतों में खड़ी धान की फसल को भारी नुकसान हो रहा है। किसानों की फसल बुरी तरह प्रभावित हो रही है। खेतों में पानी भर गया है और पकने को तैयार फसल गिर गई है। पिछले चार-पांच दिन से रुक-रुक कर बारिश होने से किसानों को चिंता बढ़ गई है। कड़ी मेहनत पर पानी फिर गया है। किसानों का कहना है कि बारिश से धान की बालियां खराब हो रही है। बरसात की हवा में धान की बालियों दाने उन्हें का खराब हो रही है वहीं अंचल में लगातार बारिश होने के चलते क्षेत्र के किसान काफी चिंतित नजर आ रहे हैं अधिकांश किसानों की फसल पककर तैयार हो चुकी है लेकिन बारिश के चलते धान की कटाई नहीं कर पा रहे हैं जो किसान धान की कटाई किए थे उन किसानों के किसानों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। बीती रात 20 एमएम बारिश दर्ज की गई थी। अब तक कुल 1888 बारिश हुई है, जबकि पिछले वर्ष 1550 एमएम बारिश हुई थी। कार्तिक में सावन जैसी झड़ी से खेत पानी-पानी हो गए हैं। लगभग पक चुकी फसल बारिश और हवा से खेतों में गिर गई है। धान की बालियां पानी में डूब गई हैं। अपनी मेहनत की कमाई को नष्ट होते देख किसान चिंतित हैं। वहीं सामने दीपावली का त्योहार है, फसल की कटाई कर किसान उसे बेचकर त्योहार के समय खरीदारी करते हैं। ऐसे में फसल की कटाई भी नहीं कर पा रहे। वहीं बारिश से व्यापार भी प्रभावित है। लोग लिपाई पुताई ठीक से नहीं कर पा रहे हैं।

----

Posted By: Nai Dunia News Network