छोटेकापसी(नईदुनिया न्यूज)।

नवीन पंचायत गठन होने के बाद कापसी की वर्षों पुरानी समस्या की आज भी स्थिति जस का तस बनी हुई है। पंचायत ने व्यवस्था सुधारने की दिशा में कोई विशेष ध्यान नहीं दिया। आदर्श गांव छोटेकापसी के बाजारों के खंभों में पंचायत ने कुछ लाइट लगाने का काम किया था, जो कुछ दिन जलने के बाद सभी लाइटें एकाएक बंद हो गई। जिसका खामियाजा कापसी के ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। लाइट बंद होने से रात में लोगों को आने जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सांप, बिच्छू के काटने का डर सता रहा है। समस्या के समाधान के लिए अब तक कापसी पंचायत ने ग्रामीणों की समस्या का सुध नहीं लिया है।

बाक्स

कापसी को सांसद गोद ग्राम का दर्जा

कापसी को सांसद आदर्श गोद ग्राम के नाम से भी पुकारा जाता है लेकिन आदर्श गुण की झलक कहीं भी दिखाई नहीं पड़ रही। सांसद आदर्श गांव के रूर्बन मिशन योजना के नाम पर लगभग 135 खंभों में सोलर स्ट्रीट लाइट लगवाई गई थी, जो सफेद हाथी साबित हुई। लाखों की योजना से बनी सोलर स्ट्रीट पोल अधिकारियों की भ्रष्टाचार व लापरवाही के भेंट चढ़ गई। जो देखरेख के अभाव में खस्ताहाल होने के कगार पर है। बता दे कि साल भर पहले शुरू हुई योजना अब दम तोड़ती नजर आ रही है।

बाक्स

कुछ जगहों पर ही जलती है स्ट्रीट लाइट

ग्रामीण शंकर पोद्दार, राजू हीरा, दिपेश साहा, किरण पाल, किशोर पाल, संदीप साहा कमलेश केदावत, विश्वजीत सरकार, ललित विश्वास ने कहा किसी भी नेता या बाजार के जनप्रतिनिधियों ने कभी बाजार की समस्या को प्रमुखता से नहीं लिया है। इसलिए ग्राम पंचायत के सरपंच, सचिव से मांग की है कि बाजार के सभी खम्बो में स्ट्रीट लाइट की मरम्मत कर सोलर लाइट सुधारने के दिशा में कोई ठोस कदम उठाया जाए। क्रीडा विभाग ने काम पूरा होने का प्रमाण-पत्र पंचायत से ले लिया है।

----

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना