- मैसेज वायरल होते ही लोगों में दिखा आक्रोश, लोगों ने फूंका स्कूल प्रबंधन का पुतला

12 कांकेर 21

भानुप्रतापपुर। नईदुनिया न्यूज

नगर में 11 जुलाई की रात को सोशल मीडिया में अचानक यह खबर वायरल हुई कि स्थानीय निजी स्कूल के प्राचार्य द्वारा स्कूल के छात्र-छात्राओं को स्कूल में भारत माता की जय बोलने पर मना करने दिखाया गया। प्रशासन की सक्रियता के बाद मामले की जांच की गई जिसमें यह मैसेज फेक निकला।

मैसेज के वायरल होने के बाद तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगीं। लोगों में आक्रोश फैल गया। दूसरे दिन यानी शुक्रवार को बड़ी संख्या में लोग सुबह स्कूल पहुंच गए, और इस बारे में जानकारी लेने लगे। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीएम भानुप्रतापपुर प्रेमलता मंडावी के निर्देश पर तहसीलदार भानुप्रतापपुर आनंद राम नेताम, खंड शिक्षा अधिकारी संजय ठाकुर, बीआरसी राधेलाल नुरूटी, थाना प्रभारी शशिकला उइके सहित भारी संख्या में पुलिस बल स्कूल परिसर में मौजूद था। इन अधिकारियों की मध्यस्थता में स्कूल प्रबंधन व नागरिकों के बीच चर्चा हुई, जिसमें नागरिकों ने भारत माता की जय बोलने से बच्चों को माना किये जाने पर सख्त एतराज जताते हुए इसे पूरी तरह गलत बताया वहीं स्कूल प्रबंधन ने इस तरह की किसी भी प्रकार की मनाही से इनकार किया अंततः स्कूल के मैदान में सभी बच्चों की प्रार्थना सभा कराई गई और जिसमें भारत माता की जय के नारे भी लगाए गए।

पुतला दहन कर ज्ञापन सौंपा

इस दौरान नगर पंचायत अध्यक्ष निखिल सिंह राठौर सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक व पालक उपस्थित थे। इस मामले को लेकर दोपहर को स्थानीय बजरंग दल व विहिप ने मुख्य चौक में प्राचार्य का पुतला दहन किया तथा इस बाबत राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा।