कांकेर। महिलाओं को समूह बनाने का झांसा देकर महिलाओं के नाम से ऋण निकालकर किस्त का भुगतान करने कहकर किस्त न पटाने और अमानत में खयानत करने का मामला सामने आया है। ग्राम कुरिष्टिकुर की महिलाओं ने मामले की शिकायत पुलिस थाने में की है। शिकायत के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

जिला मुख्यालय से 13 किलोमीटर दूर ग्राम कुरिष्टिकुर की महिलाएं गुरूवार को पुलिस थाना पहुंची। महिलाओं ने पुलिस थाने में शिकायत आवेदन सौंपकर बताया कि वर्ष 2021 में पूर्णिमा नामक महिला ने उनहें 6-6 महिलाओं का समूह बनाने की बात कही थी। साथ ही उसने बताया कि समूह की महिलाओं के नाम से बैंक से ऋण निकाला जाएगा। उक्त ऋण के किस्त का भुगतान वह करेगी। जिससे समूह की महिलाओं का बीमा हो जाएगा। साथ ही ब्याज की राशि भी महिलाओं के खाते में आएगी।

उमा सलाम ने बताया कि जिसके बाद पूर्णिमा अलग-अलग चार बैंक व माइक्रो फाइनेंस कंपनी में महिलाओं को ले गई और महिलाओं के नाम से ऋण निकाला। कुछ समय बाद महिलाओं के खाते में ऋण की राशि आने के बाद पूर्णिमा ने महिलाओं को उनके खाते में आई राशि निकालकर देने को कहा। साथ ही बताया कि वह ऋण के किस्त का भुगतान करेगी। 2021 में वह किस्त का भुगतान करती रही, लेकिन अब वह किस्त का भुगतान नहीं कर रही है। इसकी जानकारी बैंक के अधिकारियों के उनके घर आकर किस्त का भुगतान करने को कहने पर हुई।

पुलिस थाना पहुंची महिलाओं ने बताया कि पूर्णिमा द्वारा उन्हें झांसा देकर उनके नाम से ऋण निकाला और खाते में राशि के बाद किस्त का भुगतान करने की बता कहकर उक्त राशि का ले लिया था, लेकिन अब उसके द्वारा किस्त का भुगतान नहीं किया जा रहा है। बैंक के अधिकारियों द्वारा किस्त भुगतान के लिए ग्रामीण महिलाओं पर दबाव बनाया जा रहा है, जिससे सभी परेशान हैं। महिलाओं ने मांग की कि उक्त मामले में उचित कार्रवाई की जाए। थाना प्रभारी शरद दुबे ने बताया कि महिलाओं से शिकायत प्राप्त हुई है, जिसमें जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

23 महिलाओं के नाम पर निकाला गया ऋण

ग्राम कुरिष्टिकुर सहित आसपस के कुछ गांव की महिलाओं के साथ ही इस प्रकार का घटना होने की बात भी महिलाओं ने बताई। उन्होंने बताया कि महिलाओं के नाम से ऋण निकलने के बाद पूर्णिमा ने उनके खाते से राशि निकलवा कर ले ली थी। उन्होंने बताया कि उमा सलाम के नाम से 1,08,000, रमुला मंडावी का 60,000, मिलापा निषाद का 40,000, गंगा कोड़ोपी का 80,000, रंजिता ध्रुवा का 80,000, शांता का 80,000, लक्ष्‌मी सलाम का 70,000, अमृता मंडावी का 20,000, गंगा कुमेटी का 60,000, सुरेखा कोमरा का 25,000 रुपये ऋण निकाला गया है। महिलाओं ने बताया कि इस प्रकार 23 महिलाओं के नाम से ऋण निकाला गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close