कांकेर। छत्तीसगढ़ मनरेगा कर्मचारी महासंघ के बैनर तले जिले के मनरेगा कर्मचारियों ने शनिवार को दो सूत्रीय मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। हड़ताल में मनरेगा के तहत कार्य कर रहे सभी कर्मचारी और अधिकारी शामिल हैं। कर्मचारियों ने शनिवार को नियमितीकरण सहित दो सूत्री मांग को लेकर वादा निभाओं रैली निकाली और जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा।

मनरेगा कर्मचारी और अधिकारी चार अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। इस बार ग्राम स्तर पर कार्यरत रोजगार सहायक से लेकर तकनीकी सहायक, सहायक ग्रेड, लेखापाल, सहायक प्रोग्रामर, कार्यक्रम अधिकारी, भृत्य सभी सभी संविदा कर्मचारी हड़ताल पर हैं। शनिवार को छत्तीसगढ़ मनरेगा कर्मचारी महासंघ के बैनर तले जिला भर के मनरेगा कर्मचारी और अधिकारी ने वादा निभाओ रैली निकाली।

रैली कलेक्टोरेट मार्ग से शुरू हुई और मुख्य मार्ग से होते हुए गांधी चौक तक पहुंची और वापस लौट आई। जिसके बाद उन्होंने अपनी मांग को लेकर जिला प्रशासन को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन सौंपकर उन्होंने अवगत कराया कि मनरेगा कर्मचारी पिछले 16 वर्ष से निरंतर कार्य कर रहे हैं। इस दौरान समय-समय पर कर्मचारियों द्वारा नियमितीकरण की मांग की जाती रही है।

लेकिन शासन द्वारा हमारी मांग पर विचार नहीं किया गया। कोरोना महामारी के दौरान कई मनरेगा कर्मचारियों की मृत्यु भी हो गई, इसके बाद भी लाक डाउन के दौरान भी मनरेगा का कार्य कर्मचारियों द्वारा किया गया। वर्तमान में हिमाचल प्रदेश सरकार ने मनरेगा कर्मचारियों को नियमित कर दिया है। पंजाब सरकार ने संविदा और मनरेगा कर्मचारियों को नियमित करने की घोषणा कर दी है। जिसके चलते छत्तीसगढ़ में भी मनरेगा कर्मचारी अपनी मांग को लेकर हड़ताल व धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं इससे पूर्व मनरेगा कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर दांडी यात्रा भी निकाली थी। जो दंतेवाड़ा जिले से शुरू थी और राजधानी में समाप्त हुई थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close