कांकेर(नईदुनिया न्यूज)। जिले के चार ब्लाक कांकेर, भानुप्रतापपुर, चारामा और नरहरपुर में प्रथम और भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम एनपीसीआइ के आर्थिक सहयोग से फाउंडेशनल लर्निंग कार्यक्रम चलाया जा रहा है।

जिनका उद्देश्य कक्षा पहली से कक्षा आठवीं केबच्चों में बुनियदी कौशल दक्षता सुधार और गांव को शिक्षा से जोड़ने के लिए प्रेरित कर रही है। जिसमें बच्चों की शैक्षणिक स्तर जांच कर कक्षा तीसरी से आठवीं के बच्चों को स्वयं सेवक प्रतिदिन एक से दो घंटे भाषा और गणित विषय में अपने मुहल्ले में कमाल विधि से कक्षा संचालित कर रहे है।

साथ ही कक्षा छठवीं से आठवीं तक के बच्चों को डिजिटल टैबलेट के माध्यम से ग्रुप में पढ़ाई की जा रही है। अब बच्चों को प्रशिक्षण भी मिनी कंप्यूटर से दिया जा रहा है। जिससे बच्चे मिनी कंप्यूटर से पढ़ाई करेंगे। प्रथम कार्यकर्ता कमल सिन्हा ने बताया कि बच्चों में पढ़ाई के प्रति रुचिकर लाने के लिए पाठ्यक्रम को डिजिटल रूप से जोड़कर मूलभूत दक्षता जोड़,घटाव, गुणा, भाग भिन्ना को प्रडीजी एप, मिनी कंप्यूटर के माध्यम से बच्चे खेल-खेल में सिख रहे है। जिससे बुनियाद कौशल मजबूत कर आगे की कक्षा में उन्हें पढ़ने व गणित हल करने में मदद मिल सके।

यह कार्यक्रम चारो ब्लाक के 430 गांवो में समर कैंप संचालित की जा रही है। नरहरपुर ब्लाक के ग्राम ठेमा ग्राम पंचायत में मिनी कंप्यूटर दिया गया, जिसमे ग्राम के सरपंच केशनतीन शोरी, ग्राम के पालक गण सुनीति यादव, अर्चना वट्टी प्रथम कार्यकर्ता मुकेश केशरी, भूपेंद्र यादव, उत्तम कुमार जैन उपस्थित थे, यह कार्यक्रम स्टेड हेड गौरव शर्मा,प्रोग्राम हेड तीजेश सिन्हा टीम लीडर सुनिल सिन्हा के मार्गदर्शन में किया जा रहा है।

भिलाई-तेलगुड़ा में मिनी कंप्यूटर का वितरण

चारामा। ब्लाक के ग्राम पंचायत भिलाई व तेलगुड़ा में प्रथम एजुकेशन फाउंडेशन भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम द्वारा मिनी कंप्यूटर सेटआप बाक्स का वितरण किया गया। सीआइएम नीरा पटेल ने बताया कि मिनी कंप्यूटर सेटआप बाक्स का उपयोग गांव के बच्चें समुदाय द्वारा चयनित भवन जहां संग्रहालय बना है। वहां बच्चें जाकर कम्प्यूटर की बेसिक जानकारी व हिन्दी, गणित, विज्ञान, अंग्रेजी चार विषयों को लेकर पढ़ाई कर पाएंगे। साथ में मोहल्ला कक्षा में बच्चें अपने-अपने ग्रुप में गांव के जो शिक्षा पर अपनी सहभागिता निभा रही स्वयं सेवकों से पढ़ रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि कंयुनिटी इंगेजमेंट के तहत स्कूल में कक्षा तीन से पांच के बच्चों को पेन टेस्ट पेपर दिलवाने, समुदाय में आंगनवाड़ी में माताओं को अलग-अलग मोहल्ला में बच्चों के पढ़ाई को लेकर प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसी तरह चारामा के चयनित 97 गांव में जहां फाउंडेशनल लर्निंग प्रोग्राम संचालित है। सभी गांवों में पंद्रह अगस्त तक रासबेरी पाई का वितरण कर दिया जाएगा। मिनी कंप्यूटर सेटआप बाक्स वितरण गांव के सरपंच कैलाश हदगिया, पंच गोपाल गजेन्द्र, ग्राम सेवक अधिकारी, पटवारी, माध्यमिक शाला के प्रधान अध्यापक, कोटवार, ग्रामीण सदस्य, माताएं, स्वयंसेवक व सचिव उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close