Naxali Killing: कांकेर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के कोयलीबेड़ा क्षेत्र में नक्सलियों द्वारा जन अदालत लगाकर एक ग्रामीण की हत्या का मामला सामने आया है। मृतक ग्रामीण नक्सलियों का ही पूर्व साथी बताया जा रहा है। पुलिस मृतक के खिलाफ थाने में कई अपराध दर्ज होने की बात कह रही है। दूसरी ओर नक्सल प्रभावित संवदेनशील क्षेत्र होने के चलते शुक्रवार शाम तक पुलिस मृतक का शव बरामद नहीं कर सकी थी। हालाकि हत्या होने की पुष्टि पुलिस द्वारा कर दी गई है।

एक बार फिर नक्सलियों की कायराना हरकत सामने आई है। कोयलीबेड़ा थाना के गट्टाकाल के जंगल में नक्सलियों ने गुरूवार शाम जन आदलत लगाकर ग्रामीण बिनेश उर्फ दिनेश की हत्या करने की जानकारी मिली है। बताया जा रहा है कि 40 से अधिक नक्सलियों ने 3 गांव के ग्रामीणों की जन अदालत लगाकर बिनेश उर्फ दिनेश की हत्या की है। पुलिस अधीक्षक शलभ कुमार सिन्हा ने बताया कि हत्या की वारदात हुई है। लेकिन हत्या का कारण क्या है और नक्सलियों द्वारा हत्या क्यों की गई है। यह स्पष्ट नहीं हो सका है। घटना के संबंध में किसी भी व्यक्ति या परिवार के सदस्य के द्वारा अब तक पुलिस में रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है। हालाकि हत्या के बाद मृतक के कुछ फोटो प्राप्त हुए हैं। जिससे हत्या के वारदात की पुष्टि हो रही है।

आठ प्रकरणों में अपराध दर्ज

बताया जा रहा है कि कोयलीबेड़ा पुलिस थाना में मृतक बिनेश उर्फ दिनेश के खिलाफ अलग-अलग आठ अपराध दर्ज हैं। जिसमें हत्या, हत्या का प्रयास, आर्म्स एक्ट व अन्य धाराओं में पुलिस ने अपराध दर्ज है। बताया जा रहा है कि पूर्व में यह नक्सलियों से जुड़ा हुआ था और रावघाट कमेटी में सप्लाई टीम का सदस्य था।

सतर्कता बरत रही पुलिस

घटना के बाद पुलिस शव बरामद नहीं कर सकी है, जिसका कारण क्षेत्र के नक्सल प्रभावित होना है। नक्सल प्रभावित क्षेत्र में इस प्रकार की घटना होने के बाद अक्सर देखा गया है कि मौके लिए रवाना हुई पुलिस टीम पर घात लगाए बैठे नक्सली हमला कर देते हैं। जिसे ध्यान में रखते हुए पुलिस सतर्कता बरत रही है।

Posted By: Ravindra Thengdi

NaiDunia Local
NaiDunia Local