दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

बीते रात्रि को नक्सलियों ने खुटगांव से आमागढ़ तक सड़क के दोनों ओर बड़ी मात्रा में कम्प्यूटर प्रिंटेड नक्सली पर्चे फेंके हैं। इसमें पीएलजीए का 19वीं वर्षगांठ दो से आठ दिसंबर तक मनाएं। आत्मसमर्पण गुलामी के समान है। आत्मसमर्पण नीतियों ठुकराने गुरिल्ला युद्ध को तेज करने, वर्ग संघर्ष को बढ़ाने, बड़े पैमाने पर पीएलजीए में युवक-युवती की भर्ती करें, पार्टी पीएलजीए और संयुक्त मोर्चा को संगठित करें, क्रांतिकारी जनकमेटियों को मजबूत और विस्तारित करें, दुश्मनों का सफाया करते हुए हथियार छिन लें, साम्राज्यवादी विरोधी दलाल नौकरशाह पूंजीवादी विरोधी सामंतवादी विरोधी वर्ग संघर्ष को तेज करें।

ब्राह्‌मणीय, हिन्दुत्व फासीवाद के खिलाफ मजबूत और जुझारू आंदोलन का निर्माण करें, मार्क्सवादी, लेनिनवाद जिन्दाबाद, नवजनवादी क्रांतिवादी जिन्दाबाद, पीएलजीए जिंदाबाद, भाकपा माओवादी जिन्दाबाद पर्चे में लिखा हुआ है, बड़े दिनों बाद दुर्गूकोंदल से सटे गांव खुटगांव, हानपतरी से आमागढ़ तक नक्सली पर्चा मिलने से क्षेत्र के लोगों में दहशत का माहौल है, नक्सली पर्चा सोमवार सुबह से शाम तक सड़क किनारे पड़े रहे। इससे इस मार्ग पर लोग दहशत के बीच आवागमन करते रहे। लेकिन पर्चा मिलने की खबर फैलने के बाद इस क्षेत्र में पुलिस और बीएसएफ के जवान नजर नहीं आए। वहीं दुर्गूकोंदल से सटे हुए गांव में नक्सली पर्चा मिलने से पुलिस और बीएसएफ के गस्त सर्चिंग पर सवाल उठ रहे है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket