कांकेर। शहर के दो दुकानों में खाद्य व औषधि प्रशासन विभाग की टीम ने जांच के दौरान 21 हजार रूपये से अधिक की अमानक हो चुकी खाद्य सामग्री जब्त की गई। जिसे टीम द्वारा जलाकर नष्ट किया गया। साथ ही दुकान संचालकों को इस संबंध में विभाग की ओर से नोटिस भी जारी किया गया है।

खाद्य व औषधि प्रशासन विभाग की टीम द्वारा दुकानों व एजेंसियों की जांच की जा रही है और अमानक हो चुकी सामग्री के दुकान में मिलने पर जब्त कर उसे नष्ट करने की कार्रवाई की जा रही है।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी विमल कुमार सिंह ने बताया कि गुरूवार को कांकेर के किराना दुकानों का निरीक्षण किया गया। इस दौरान मनीष एजेंसी के भंडारीपारा के गोदाम की जांच की गई। जहां वहा अमानक खाद्य पदार्थ पतंजलि दूध बिस्किट 20 पेटी, कीमत 10,000 रुपए, पोपट नमकीन 17 बंडल कीमत 4250 रुपए, क्रीम बिस्किट 5 पेटी कीमत 2500 रुपए, पतंजलि ओट्स दो पेटी कीमत 960 रुपए कुल 17,710 रुपए की खाद्य सामग्री को नाट फार सेल लिखकर भंडारित किया गया था।

इसी प्रकार गुरुदेव पान मसाला व किराना स्टोर पुलिस थाना के सामने कांकेर में जांच के दौरान विद्याश्री गोल्ड आटा 125 पैकेट कीमत 3375 रुपए, मधुर फर्सन फ्लोर 6 पैकेट कीमत 150 रुपए, सरल मुखवास 18 पैकेट कीमत 540 रुपए की अमानक हो चुकी खाद्य सामग्री जब्त की गई। इस प्रकार दोनों दुकानों से कुल 21,775 रुपए की अमानक खाद्य सामग्री जब्त की गई। जिसे आग लगाकर नष्ट किया गया। दुकान संचालकों को अमानक खाद्य सामग्री के संबंध में नोटिस दिया गया है। साथ ही खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम 2006 के तहत नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

स्कूलों में बांटे जा रहे गणवेश गुणवत्ताहीन : सुब्रतो

जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष एवं शिक्षा समिति के सभापति सुब्रतो विश्वास ने जारी बयान में कहा है कि सरकारी स्कूलो में जो गणवेश वितरण किया जा रहा है, उसकी गुणवत्ता खराब है। इसमें घोटाला भी होने का अंदेशा है। विश्वास ने कहा है कि शाला प्रवेश उत्सव में सरकार पहली से लेकर आठवी कक्षा तक सभी बच्चों को गणवेश दे रही है। इन कपड़ों की क्वालिटी बेहद हल्की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close