अंतागढ़। कल से अंतागढ़ में आादी के 75 वर्ष बाद रेल का परिचालन शुरू किया गया, लोगों ने पूरे उत्साह से रेलगाड़ी का स्वागत किया और बहुत से लोगों इस पल को यादगार बनाने भानुप्रतापपुर और भिलाई तक का सफर भी किया, लेकिन देर रात से हो रही मूसलधार वर्षा की वजह से आज स्टेशन पहुंच मार्ग बाधित हो गया। जिससे कई सवारी स्टेशन तक नहीं पहुंच पाए वहीं 15 मिनट देर से आई डेमो ट्रेन से आए यात्रियों को अंतागढ़ आने के लिए मशक्कत करनी पड़ी।

वहीं स्टेशन रोड के आगे पड़ने वाले गांव टेमरूपानी, सुरेवाही मार्ग पर नक्सलियों ने पेड़ गिराकर व पोस्टर लगाकर सड़क बाधित करने की कोशिश की। जिसे सुरक्षा बलों ने समय से हटा दिया था। लेकिन ऐसी वर्षा के बावजूद रेल का सफर करने वालों के उत्साह में कोई कमी नजर नहीं आई, करीब 50 से 51 यात्रियों ने आज भी रेल में सफर किया। अलका पटेल ने बताया की उन्हें भिलाई जाना था लेकिन स्टेशन मार्ग में पानी ज्यादा होने की वजह से उन्होंने भिलाई जाना स्थगित कर दिया।

सेवानिवृत जवान का गृहग्राम में स्वागत

भारतीय सेना में 19 साल से सेवा देने के बाद सेवानिवृत्त होकर घर लौटने पर सेना के जवान का अखिल भारतीय पूर्व सैनिक सेवा परिषद के नेतृत्व में उनके गृह ग्राम मुड़खुसरा के नौजवानों, परिजनों और अन्य लोगों द्वारा धूमधाम से फूल माला पहनाकर स्वागत किया। सेवानिवृत्ति के बाद इस तरह का स्वागत सत्कार पाकर सैनिक सुरेंद्र कुमार सिन्हा गदगद हो गए। सबसे पहले उनका स्वागत भारतीय पूर्व सैनिक सेवा परिषद के द्वारा रायपुर में किया गया। रायपुर के बाद उन्हें स सम्मान चारामा नगर लाया गया।

जहां बस स्टैंड परिसर में स्थित भारत माता की प्रतिमा पर उन्होंने माल्यार्पण किया। स्वागत सत्कार के बाद हाथों में तिरंगा लेकर गांव के युवक उनके सहपाठी परिजन सभी मोटरसाइकिल और कार रैली निकालकर नगर चारामा से ग्राम आवरी होते हुए ग्राम मुडखुसरा पहुंचे। जहां ग्राम आवरी और मुड़खुसरा में उनका स्वागत सम्मान किया गया, गांव की महिलाओं उनके साथ पढ़ने वाले सभी युवक-युवतियों गांव के ग्रामीणों के द्वारा उनका फूल माला पहनाकर वहां भी स्वागत किया गया।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close