कांकेर। शासकीय महाविद्यालय सरोना में शिक्षा एवं स्वास्थ्य तथा एड्स दिवस पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसका उद्देश्य विद्यार्थियों को शिक्षा का महत्व व उपयोगिता तथा स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना रहा। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता नीति आयोग पीरामल फाउंडेशन के सदस्य सुजीत गेडाम थे। उन्होंने बालिका शिक्षा पर विस्तृत जानकारी दी और कहा कि हर साल शाला त्यागी बच्चों में बालिकाओं की संख्या अधिक होती है और हमारा उद्देश्य इन संख्या में कमी लाना तथा बालक एवं बालिका को शिक्षा का समान अधिकार प्राप्त कराना है।

महाविद्यालय के प्राचार्य डा. सरला आत्राम ने सक्षम बिटिया कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। कहा कि जिस प्रकार घर परिवार में पुरूष वर्ग को प्राथमिकता दी जाती है, उसी प्रकार महिला वर्ग को समान प्राथमिकता दी जानी चाहिए, जिसके लिए संविधान में समानता का अधिकार है। इस अधिकार से बालक के समान बालिकाओं को भी शिक्षा के क्षेत्र में हो चाहे अन्य क्षेत्रों में हो इनको भी आगे बढ़ने का अवसर दिया जाना चाहिए जिसके लिए सरकार द्वारा अनेक योजनाएं बनाई गई है, जिसकी जानकारी सभी विद्यार्थियों व उनके परिवार व राष्ट्र के प्रत्येक नागरिक को होनी चाहिए ताकि लैंगिक असमानताएं दूर हो सके। इसी कड़ी में सहायक प्राध्यापक डॉ. मिथलेश कुमार सिन्हा के द्वारा एचआइवी एड्स के कारण व उसके रोकथाम की जानकारी दी गई। अतिथि व्याख्याता युवराज कुमार द्वारा शिक्षा व स्वास्थ्य के बारे में जागरूक किया गया। कार्यक्रम का संचालन भारत बघेल तथा आभार प्रदर्शन रधिक कुमार ध्रव के द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम में ए शशांक राव, गोपाल हिरवानी, स्वाक्ष्‌णी डोगरे, नवदीप कावडें, युगेन्द्र कुमार, प्रभाकर गोरे, विकास निषाद पूर्णिमा यादव एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local