कांकेर-दुधावा। जिले के दुधावा क्षेत्र के ग्राम सारवंडी में दो भालुओं की मौत हो गई है। मृत भालुओं की उम्र मात्र छह माह ही बताई जा रही है। भालुओं की मौत के बाद वन विभाग द्वारा शव का पोस्टमार्टम कराया गया। अब तक मौत के कारणों का पता नहीं चल सका है।

नरहरपुर तहसील के ग्राम सारवंडी में भालू के दो बच्चों की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सारवंडी निवासी नारायण साहू की बाड़ी में भालू के दो बच्चे मृत अवस्था में पड़े हुए थे। शनिवार सुबह जब परिवार के सदस्य शौच के लिए निकले तो बाड़ी में भालू के दो बच्चों को मृत पड़े देखा, जिसके बाद सरपंच को इसकी सूचना दी। सरपंच ने वन विभाग को घटना की जानकारी दी। वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और मृत भालुओं की जांच की गई। दोनों भालुओं के शव को पोस्टमार्टम के लिए नरहरपुर ले जाया गया, जहां पोस्टमार्टम किया गया। दुधावा क्षेत्र के डिप्टी रेंजर डीके श्रेय ने बताया कि जांच में पता चला है कि मृत भालुओं में एक नर व एक मादा है, जिनकी उम्र लगभग छह माह है। इनकी मौत रात्रि लगभग एक बजे हुई है। पंचनामा तैयार कर पोस्टमार्टम के लिए नरहरपुर भेजा गया था, पोस्टमार्टम होने के बाद रिपोर्ट नहीं आई है। रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा की दोनों भालुओं की मौत का कारण क्या है।

लगातार बढ़ रही भालुओं की संख्या

जिले के कांकेर व नरहरपुर क्षेत्र में भालुओं की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। भालुओं की संख्या इतनी अधिक बढ़ गई है कि अब भालू भोजन की तलाश में रिहायशी बस्ती में पहुंचने लगे हैं। अक्सर देखा गया है कि लोगों से आमना सामना होने की स्थिति में भालू लोगों पर हमला भी कर देते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस