बड़गांव(नईदुनिया न्यूज)। विधायक अनूप नाग ने शुक्रवार को कोयलीबेड़ा ब्लाक के परलकोट क्षेत्र के ग्राम प्रमुखों एवं ग्राम पटेल के साथ परलकोट के विकास कार्यों और भविष्य में संभावित प्रगति के लिए पखांजूर के सद्भावना भवन में चर्चा किए। विधायक ने कहा एक सशक्त और विकसित समाज के लिए सबकी सहभागिता जरूरी है ।

आप सभी तो इस समाज के एक बेहद अहम भाग है। समाज का विकास सभी के सहयोग से ही संभव है तभी एक विकसित समाज का जन्म संभव हो पाएगा। विधायक नाग ने बैठक शुरू होने के पूर्व ही कहा कि सभी ग्राम प्रमुख वे इस बैठक में अपनी बाते दिल खोलकर रखे । यदि मुझसे कोई शिकायत है तो उसे भी जाहिर करें और यदि मेरे कार्य में किसी प्रकार की कोई कमी है

उसका भी उल्लेख करें। साथ ही उन्होंने कहा कि यदि मैं बेहतर कार्य कर रहा हूं, तो आप सभी मुझे यह भी सुझाव दे की मैं किस प्रकार से ज्यादा बेहतर कर पाऊं । जिसके बाद सभी ने बेझिजक होकर विधायक नाग से दिल खोलकर चर्चा की।

अप्रत्याशित दौरों की सराहनाः विधायक ने विभिन्ना पंचायतों से आए ग्राम प्रमुख एवं ग्राम पटेल के साथ खुली चर्चा की। सभी के द्वारा दिए गए सुझावों को भी न सिर्फ ध्यानपूर्वक सुना और उनके सुझावों की विधायक ने सराहना भी की। सभी ने विधायक नाग के द्वारा परलकोट क्षेत्र में उनके अप्रत्याशित दौरों की सराहना की और निर्माणाधीन कार्यों,

प्रगतिरत कार्यों की भी प्रशंसा की एवं कुछ कार्य जो लंबित है उसके तरफ भी विधायक का ध्यान आकर्षित करवाया। सबकी बाते सुनकर विधायक ने कहा की आप सभी के विचारों, सुझावों और कुछ जगह मेरी आलोचना को सुनने के बाद मुझे मन में बेहद प्रसन्नाता हो रही है। उन्होंने कहा की बहुत दिनों से इस प्रकार से खुले मंच में आप सभी प्रमुखों से वार्ता करना चाहता था, परंतु कोरोना महामारी ने यह कार्य बार-बार स्थगित करवाया।

उन्होंने बताया कि सभी के द्वारा बताए गए सुझावों और खामिओं को नोट कर लिया है। अब आपने जो कहा है उन सब चीजों का विशेष ध्यान रखा जाएगा। विधायक नाग ने कहा कि एक जनप्रतिनिधि होने के नाते मेरा तीन वर्ष खत्म होकर यह चौथे वर्ष में मेरा कार्यकाल प्रारंभ हो चुका है। इन तीन वर्षो में मैने पूरी ईमानदारी, लगन एवं समाज के हर वर्ग के लिए पूरी निष्ठा से कार्य किया है। अब मानव सेवा करना ही मेरा और मेरी पत्नी का धर्म है। हमारा जीवन अब पूरे समाज के सेवा के लिए समर्पित है, हमेशा से प्रयास रहा है की मैं समाज के हर अंतिम इंसान तक सीधे संवाद रखूं ताकि मुझे उनके हर वो सुख-दुख की जानकारी रहे और मैं उनके जीवन के प्रत्येक परिस्थिति में साथ खड़े रह पाऊं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close