0- स्वास्थ्य और सड़क की बेहतर सुविधा सपना लगती हैं इन गांवों में

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

ग्राम पंचायत सराधुघमरे के आश्रित गांव डोड़का, नहूर, निरोडाडीही, जुई, लाटमरका के ग्रामीण सुचारू रूप से बिजली सप्लाई नहीं होने से काफी परेशानियों का सामना कर रहे है, विगत कई वर्षों से कभी-कभी बिजली के अभाव में अंधेरा का जिंदगी जीने के लिए मजबूर है। शासन प्रशासन द्वारा लोगों की सुविधा के लिए बिजली, पानी, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्रों में अधिकतर जोर दिया जाता है। इन गांवों में शासन की मूलभूत सुविधा, सड़क, बिजली, स्वास्थ्य एक सपना सा साबित हो रहा है। क्योंकि इन गांवों में पहुंचने के लिए ना तो पक्की सड़क है ना बिजली की सुविधा ना अच्छे से स्कूल शासन द्वारा बिजली व्यवस्था तो की गई है।

विभाग द्वारा देखरेख की अभाव के चलते कभी खंबे टूट जाते है, तो कभी ट्रांसफार्मर का खराब होना हमेशा का रवैया बन रहा है, ग्राम हुलघाट और डोड़का, एनहूर के बीच बिजली खंबा जर्जर स्थिति में पड़ा है। बिजली पोल टूट कर जमीन की ओर झुक गया है, और टूटी हुई विद्युत पोल में बिजली चालू स्थिति में है। अगर टूटी हुई बिजली पोल की मरम्मत नहीं की गई तो कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। खंबा टूट कर जमीन में गिर जाएगी तो जान मान की हानि हो सकती है, क्योंकि गर्मी के दिन में बेसहारा मवेशी और ग्रामीण इलाकों में लोगों का आना जाना हमेशा रहता है।

आठ वर्षों से ट्रांसफार्मर खराब

बिजली विभाग द्वारा ग्राम डोड़काएनहूर में कई वर्ष पहले ट्रांसफार्मर लगाया गया है, जो कि वर्तमान में लगभग आठ वर्षों से खराब पड़ा है। बिजली विभाग मौन होने के कारण इस खराब ट्रांसफार्मर को ना बदला गया है ना सुधारा गया है। 64 केवी का ट्रांसफार्मर आज शो पीस बना हुआ है। ग्रामीण संतुराम रजऊ बालसिंह ने बताया कि हमारे गांव में दो ट्रांसफार्मर लगे हुए है, जो कि एक आठ वर्षों से खराब पड़ा हुआ है और एक छोटा सा 11 केवी का ट्रांसफार्मर वर्तमान में चालू है 11 केवी का ट्रांसफार्मर होने के कारण चारों ग्रामों में बिजली सुचारू रूप से नहीं पहुंच पाता जिस कारण से हमेशा लो वोल्टेज की स्थिति बनी रहती है उन्होंने आगे बताया की हुलघाट और डोड़का, नहूर के बीच बिजली खंबा टूट कर जमीन की ओर झुक गई है और बिजली लाइन चालू स्थिति में है कभी भी अप्रिय घटना घट सकती है।

बारिश में ब्लैक आउट रहने की संभावना

बरसात के दिनों में हमेशा बिजली गुल होती है जिस कारण से ब्लैक आउट का खतरा बना रहता है चारों तरफ जंगल पहाड़ होने के कारण जहरीले जीव जंतु व जंगली जानवरों का भय बना रहता है। ग्रामीण सरित नेताम, रामजी जाड़े, बाल सिंह ने बताया कि हम आत्मनिर्भर होने के लिए और कृषि को बढ़ावा देने हमारे गांव में लगभग पांच बोर खनन किए हैं। लेकिन लो वोल्टेज होने के कारण बोर चलाना काफी मुश्किल हो रहा है। लाखों की लागत में किए हुए बोर खनन शो पीस बन रहे है। इन ग्रामीणों ने टूटी हुई बिजली पोल व खराब ट्रांसफार्मर को जल्द से जल्द विभाग द्वारा मरम्मत करने की मांग किए है।

-----------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना