कांकेर। छत्‍तीसगढ़ के कांकेर जिला मुख्यालय से लगभग 10 से 12 किमी दूर 10 अगस्त की सुबह माकड़ी से कोकड़ी जाने वाले मार्ग में एक अज्ञात पुरूष का शव पुलिस ने बरामद किया था। जिसकी पहचान धमतरी निवासी श्रीकांत सोनी (35) के रूप में की गई थी। पुलिस ने हत्या की गुत्थी को 36 घंटे बाद सुलझाने में सफलता प्राप्त किया। वही 10 अगस्त को मौके पर थाना कांकेर पुलिस पहुंची। पुलिस शव पंचनामा और पीएम बाद रिपोर्ट किया तथा शव के चोट के आधार पर हत्या के आशंका पर अज्ञात आरोपित के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

घटना की गंभीरता को देखते हुए एसपी शलभ कुमार सिन्हा ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जीएन बघेल और अविनाश ठाकूर तथा अनुविभागीय अधिकारी पुलिस डा. चित्रा वर्मा को अपने सुपर विजन में निर्देश देकर थाना प्रभारी कांकेर शरद दुबे के नेतृत्व में टीम गठित कर अज्ञात आरोपितों की पतासाजी का निर्देश दिया गया।आरोपितों ने पूछताछ के दौरान बताया मृतक श्रीकांत सोनी अपने बड़े भाई सूर्यकांत, भाभी योगेश्वरी सोनी, पत्नी चन्द्रिका सोनी के साथ एक ही घर में रहते थे, लगभग एक साल पहले चन्द्रिका ने अपने घरवालों के मर्जी के बिना मृतक श्रीकांत सोनी से विवाह किया और धमतरी में ही रहने लगे।

श्रीकांत होटल में काम करता था। बहुत ज्यादा शराब पीने का आदी हो गया था और अपनी पत्नी को समय नहीं दे पाता था। छोटी-छोटी बातों पर गाली गलौच कर मारपीट करता था। मृतक की भाभी माला बेचने घर से बाहर जाती थी तब घर में मृतक की पत्नी व उसका बड़ा भाई दोनों रहते थे तो मृतक की पत्नी एवं बड़े भाई के बीच नजदीकी बढ़ने से दोनों अपनी मर्जी से संबंध बनाते थे। मृतक श्रीकांत का उसकी पत्नी का उसके बड़े भाई से अवैध संबंध होने के कारण उनके बीच विवाद होने से परिवार में अशांति का माहौल हो गया था।

तीनों ने मिलकर रची थी साजिश

आरोपित चन्द्रिका सोनी, सूर्यकांत सोनी और योगेश्वरी ने मिलकर मृतक श्रीकांत की हत्या करने की योजना बनाई और सात अगस्त को मृतक श्रीकांत सुबह रोज की तरह काम करने के लिए चला गया था। दोपहर में आरोपित चन्द्रिका, योगेश्वरी और सूर्यकांत सोनी उर्फ अविनाश आपस में बातचीत कर रास्ते में ही हत्या कर दी। मृतक का बड़ा भाई अविनाश उर्फ सूर्यकांत सोनारी काम करता है। अक्सर किराए की कार लेकर बाहर आता जाता था।

चालक आरोपित सूर्यकांत ने योजना के तहत छोटे भाई श्रीकांत को कार में दंतेवाड़ा ले गए और दंतेवाड़ा से वापस आते समय आठ अगस्त की रात्रि में कोकडी मार्ग में हथौड़ी और चाकू से वार कर उसकी हत्या कर दी और फरार हो गए थे। तीनों आरोपित चंद्रिका सोनी, सूर्यकांत सोनी उर्फ अविनाश और योगश्वरी को 12 अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया। अन्य साक्ष्य एकत्रित करने केलिए आरोपित को पुलिस रिमांड पर लिया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close