बरबसपुर (नईदुनिया न्यूज)। जिले से लेकर ग्रामीण अंचलों तक मौसम की खराबी के कारण जनजीवन से लेकर पशु, पक्षी और किसानों की फसल को नुकसान हुई। ग्रामीण अंचलों में इन समय दिनभर बादल छाए रहने और बूंदाबांदी बारिश के चलते ओले गिरने के कारण खेत की फसलों में आए फल-फूल निकल रहे थे। नुकसान पहुंच गए किसान चिंतित होने लगे अब किसानों की चिंता बढ़ गई है। किसानों को मूलधन भी चुकाना मुश्किल हो गई है। इस तरह मौसम की मार झेलना पड़ रहा है। वहीं दूसरी तरफ महंगी का दवाई भी किसानों को दोहरा मार रहा है।

किसान इस समय बारिश को देखते हुए चिंताजनक में पड़ गई है। वही अरहर तीवरा चना के फसलों में फूलों से लदा हुआ था बारिश और ओले गिरने से फूल गिर गए हैं, जिनके कारण से किसान चिंतित नजर आने लगे हैं और अब तो मूलधन पैदा वार करना मुश्किल है। पूरी तरह फसल चौपट हो गए हैं। अब मूलधन चुकाना मुश्किल पड़ रहा है। यदि बारिश ऐसे रही तो पूरे फसल नष्ट होकर क्षतिग्रस्त हो जाएंगे और किसान बर्बाद होग साल भर की खून पसीना की कमाई मिनटो में बर्बाद हो जाएगा।

72 घंटे के भीतर शिकायत करें

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा के निर्देश पर कृषि विभाग ने बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित जिले के किसानों के लिए आवश्यक सूचना जारी की है। कृषि विभाग के उपसंचालक एमडी डड़सेना ने बताया कि जिले के जिन बीमित किसानों की फसलों को अधिक वर्षा से नुकसान हुआ है वे टोल फ्री नंबर-1800 209 5959 में शिकायत दर्ज करा सकते हैं। 72 घंटे के भीतर काल करना अनिवार्य है। सूचना प्राप्त होने पर राजस्व, कृषि विभाग और बीमा कम्पनी के द्वारा संयुक्त रूप से सर्वे कर स्थानीय जोखिम अंतर्गत लाभान्वित किया जाएगा। पंडरिया ब्लाक के दामापुर गांव के कुशाल चंद्राकर, राधे चंद्राकर, होरी सिंगरौल, मनोज साहू, अश्वनी यदु, कुमार, मदन चौहान, सोनू कोशले, दिनेश पाण्डेय, हरेन्द्र राजपूत ने बताया कि बारिश से जहां धान खरीदी और जनजीवन प्रभावित हुआ है, वहीं रबी फसलों को भारी नुकसान हुआ है। इससे किसान चिंतित हैं और मुआवजे की मांग शासन से कर रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local