कवर्धा(ब्यूरो)। जिला मुख्यालय में करोड़ों रुपए की लागत से निर्मित बस स्टैंड की व्यवस्था आज तक नहीं सुधरी है। परिसर में फुटकर व्यापारियों द्वारा कब्जा हो गया है। इससे यात्रियों के बैठने के लिए जगह भी नहीं मिल पा रही है। बस स्टैंड में गंदगी व बदबू के कारण लोगों का गुजरना मुश्किल हो गया है। नगर पालिका प्रशासन भी अब तक व्यवस्था सुधारने में ठोस कार्रवाई नहीं कर सका है।

राजा धर्मराज सिंह बस स्टैंड की अव्यवस्था के कारण यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यात्री प्रतीक्षालय में दुकानदारों का अवैध कब्जा, सामने ठेलावालों का कब्जा और परिसर में होटलों का अवैध संचालन हो रहा है। वहीं संध्या होते ही परिसर किसी मदिरालय से कम नहीं लगता। होटल का गंदा पानी, बासा की गंदगी पूरे बस स्टैंड में फैल जाता है। इससे यहां पैदल चलना भी मुश्किल हो रही है। गार्डन के किनारे प्रसाधन करने का स्थान बन गया है। इसके चलते यहां बदबू से यात्रियों का जीना दूभर हो जाता है। अव्यवस्था का आलम इतनी अधिक हो गई है कि यात्री को बस तक पहुंचना भी मुश्किल हो जाता है। अंडा ठेला, बिरयानी ठेला, फलों के दुकान, रिक्शा व होटलों को बस स्टैंड के किनारे-किनारे व्यवस्थित किया जा सकता है लेकिन इस ओर किसी का ध्यान नहीं जाता। शासन प्रशासन के डर से बेखौफ होकर नशेड़ियों द्वारा सुंदर परिसर का बेजा इस्तेमाल किया जा रहा है। बस स्टैंड के समीप चाय, पान ठेला व अन्य व्यवसायियों ने पालिका प्रशासन पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि साफ सफाई में लापरवाही बरती जाती है। लगातार सफाई नहीं होने से कचरा एकत्रित हो जाता है तथा उससे दुर्गंध भी उठने लगती है। वहीं उद्यान के बाउंड्रीवॉल में लोगों द्वारा प्रसाधन किए जाने से काफी बदबू आती रही है। इससे हम व्यवसायियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। साफ सफाई के संबंध में अनेक बार पालिका प्रशासन को अवगत कराया जाता है, लेकिन सफाई नहीं हो पाती। बस स्टैंड परिसर में निर्माण किए गए सुलभ शौचालय भले ही यात्रियों व आम नागरिकों की सुविधा के लिए बनाया गया हो लेकिन इसका उपयोग जानकार लोग ही कर पाते हैं। चूंकि पीछे की ओर होटल, रेस्टारेंट से लगे होने के कारण यात्रियों का ध्यान इस ओर नहीं जाता। इसके चलते रेवाबंध तालाब में बने आकर्षक गेटों के समीप लोगों द्वारा प्रसाधन किया जाता है। नगरपालिका द्वारा बस स्टैंड परिसर की नियमित साफ सफाई व नालियों का मलबा नहीं निकालने के कारण गंदगी व बदबूदार दुर्गंध से वहां ठहरना मुमकिन नहीं हो पा रहा है। पालिका की उदासीन कार्य प्रणाली के चलते स्वच्छ व सुंदर नगर की कल्पना को धता बताया जा रहा है।

---

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags