कवर्धा(नईदुनिया न्यूज)। छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन दो अक्टूबर को सत्याग्रह का संदेश देते हुए अपनी मांगों को रखेंगे। एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रमेश कुमार चंद्रवंशी ने कहा है कि सभी विभाग में पदोन्नति जारी है, किन्तु शिक्षा विभाग ने अभी तक पदोन्नति नहीं की है। सबसे ज्यादा प्रभावित सहायक शिक्षक संवर्ग है, जिन्हें न्यूनतम वेतनमान मिलता है।10 वर्ष की सेवा में क्रमोन्नति व पांच वर्ष की सेवा में पदोन्नति का नियम है, किंतु हजारों शिक्षक संवर्ग को 23 वर्ष की शिक्षकीय सेवा में भी क्रमोन्नति व पदोन्नति नहीं दी गई है। सन्‌ 1998 से लगातार भर्ती किए गए हजारों शिक्षाकर्मियों को आज तक क्रमोन्नति व पदोन्नति नहीं मिली है। एक ही पद पर 10 वर्ष की सेवा पूर्ण करने पर क्रमोन्नति का प्रावधान है, किंतु नियम कायदे के चक्कर में विभाग ने शोषण ही किया है। प्रदेश में प्राथमिक शाला प्रधान पाठक के 22 हजार पद रिक्त हैं, सहायक शिक्षक एल बी संवर्ग ही वहां प्रभारी का दायित्व निर्वहन कर रहे हैं, उन्हें ही पदोन्नति देकर विभाग की गुणात्मक व्यवस्था में सुधार किया जा सकता है, इससे शिक्षकों को वित्तीय लाभ के साथ सेवा संतुष्टि भी मिलेगी। व्याख्याता व शिक्षक के वेतन अनुपात में ही शिक्षक व सहायक शिक्षक का वेतन भी निर्धारित करने आवश्यकता है, जिससे सहायक शिक्षकों की वेतन विसंगति दूर हो सके। बाजार आधारित एनपीएस के स्थान पर पुरानी पेंशन योजना की मांग की जा रही है। पंचायत, नगरीय निकाय व एलबी संवर्ग में अनुकंपा नियुक्ति के कई प्रकरण लंबित है। जनवरी 2019 से महंगाई भत्ता लंबित है। दो वर्ष से अधिक की सेवा के लिए वेटेज देते हुए जुलाई 2020 से संविलियन की मांग जारी है। एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रमेश कुमार चन्द्रवंशी, प्रांतीय उपाध्यक्ष विनोद गुप्ता, उग्रसेन चन्द्रवंशी, केशलाल साहू, वकील बेग मिर्जा, बलदाऊ चन्द्राकर, राजेश तिवारी आदि ने कहा है कि 1998 से अब तक शासकीय शाला में ही शिक्षक सेवारत है, उनकी पुरानी सेवा को आधार बनाकर ही संविलियन किया गया है, ऐसे में उस सेवा व अनुभव को आधार बनाकर शिक्षा विभाग में पदोन्नति व क्रमोन्नति क्यों नहीं दिया जा सकता है? प्रथम नियुक्ति तिथि के आधार पर क्रमोन्नति, शिक्षकीय सेवा के आधार पर पदोन्नति, सहायक शिक्षक को व्याख्याता - शिक्षक के आनुपातिक वेतनमान व पुरानी पेंशन बहाली, अनुकम्पा नियुक्ति, लंबित महंगाई भत्ता का विषय वर्तमान में ज्वलंत है। इसी शोषण, अन्याय व भेदभाव की खिलाफ टीचर्स एसोसिएशन द्वारा दो अक्टूबर को सत्याग्रह संदेश के रूप में समानता व अधिकार देने शिक्षा विभाग को संदेश दिया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020