कवर्धा। जबलपुर-कवर्धा नेशनल हाईवे स्थित बोड़ला के टोल नाका में सोमवार रात करीब 8 बजे बलवा हो गया। टोल नाका के कर्मचारियों की गुंडागर्दी देखने को मिली। मोटर साइकिल के रुपए मांग किए जाने काे लेकर ग्राम मुड़ियापारा सरपंच के साथ कर्मचारियों की विवाद हो गई। इस दौरान सरपंच समेत तीन लोगों के ऊपर टोल नाका के कर्मचारियों ने जानलेना हमला कर दिया। इन लोगों ने पीड़ित को राड से सिर पर वार किया है। हमले में घायल सरपंच को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस हमला के बाद मौके पर पंहुची बोड़ला पुलिस ने टोल नाका के 5 कर्मचारियों के खिलाफ बलवा समेत गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल सभी की गिरफ्तारी हो चुकी है।

बता दें मंगलवार को इन आरोपितों को जेल भी भेजा जा चुका है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी बंदेश चद्रवेशी , सतीष दहिया, अकाश, आनंद, शिव प्रकाश के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 294, 307, 323, 506(बी) के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसके अलावा मामले की और भी जांच जारी है। वर्तमान में घायलों को उपचार अस्पताल में चल रहा है। पूरे घटनाक्रम के संबंध में एएसपी मनीषा ठाकुर ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर लिया गया है। सोमवार रात के समय मौके पर बोड़ला पुलिस की टीम को भेजा गया था। वर्तमान में मामला शांत है। 5 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। आगे की विवेचना चल रही है। गिरफ्तार सभी आरोपितों को जेल भेज दिया गया है।

इस बात हो लेकर शुरू हुआ विवाद, जो मारपीट में बदल गई

पुलिस से मिली जानकारी अनुसार ग्राम मुडियापारा निवासी त्रिलोक राम लहरे व सरपंच भुनेश्वर भास्कर के साथ उसके मोटर साइकिल से बोड़ला आये थे। बोड़ला से वापस अपने गांव ग्राम मुडियापारा जा रहे थे, कि रात करीबन 8 बजे एनएच- 30 टोल प्लाजा मुडियापारा बोड़ला पहुचे थे। उसी समय टोल प्लाजा के कर्मचारियों के द्वारा दुपहिया वाहन का पैसा मांगे तो सरपंच भुनेश्वर भास्कर ने कहा कि दुपहिया का कहां पैसा लगता है, उतने में आवेश में होकर टोल प्लाजा के कर्मचारी के द्वारा सरपंच भुनेश्वर भास्कर को बोला कि पैसा क्यों नही दोगे। इसी बात को लेकर विवाद शुरू हो गया। इस दौरान टोल प्लाजा में लगे कर्मचारी बहुत ज्यादा आक्रोश में आ गए। आफिस तरफ के 5 से 10 कर्मचारियों को बुलाये गए। फिर सभी ने लोहे का पाइप, डंडा लेकर उनपर हमला कर दिया।

पीड़ित सभी लोगों को आई गंभीर चोट

इस हमले में सरपंच भुनेश्वर भास्कर के पीठ पैर कमर हाथ पैर सिर व बदन में चोटें आई हैं। उसी समय सरपंच के दोनों लड़के राजेन्द्र भास्कर व अजित भास्कर एवं छोटे भाई संतराम भास्कर मोटर साइकिल घर गांव से आये तो इन दोनों लडका व उसके भाई के ऊपर भी हमला हुआ है। हमले में घायल सरपंच जमीन में गिरा पड़ा था, चल फिर नही पा रहा था। कुछ देर बाद थाना बोड़ला पुलिस के कर्मचारी आए और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया है। पीड़ित अजित भास्कर के दोनों हाथ दाहिने पैर व सिर के पीछे, राजेन्द्र भास्कर के सिर मस्तक दोनों कंधा के पास बायां हाथ के कलाई कोहनी के पास दाहिने पैर घुटने के नीचे व पीठ में चोट लगी है। इसी प्रकार त्रिलोक राम लहरे के दाहिने आंख के पास चोटें आई है।

पूर्व में भी कई विवाद की मिली जानकारी

बोड़ला टोल नाका के कर्मचारियों की गुंडागर्दी का यह पहला मामला नहीं है। यहां आए दिन विवाद के मामले सामने आते रहे है। आमतौर पर यहां रुपए के लेन देन को लेकर विवाद होते रहा है। हांलाकि मोटर साइकिल से रुपए नहीं जा सकते है। इसके बाद भी सरपंच से राशि की मांग किया जा रहा था। इसके अलावा पूर्व में भी अन्य वाहन मालिक से मासिक रुपए लिए जाने के संबंध में भी एक दो बार विवाद हो चुका है। लेकिन संबंधित वाहन मालिक द्वारा कभी भी शिकायत नहीं की गई है। गौरतलब है कि इस टोल नाका को बीते साल ही शुरू किया गया है। कबीरधाम जिले में यह एकमात्र हाईवे स्थित टोल नाका है।

Posted By: Vinita Sinha

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close