कवर्धा। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग (सीजीपीएससी) बड़े पदों के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित करता है। डिप्टी कलेक्टर, डीएसपी समेत कई सारे पदों के लिए परीक्षा ली जाती है। वहीं अब लोक सेवा आयोग पहली बार चपरासी की परीक्षा ले रहा है। वहीं ऐसा पहली बार हुआ है कि पीएससी ने चपरासी के पदों में भर्ती के आवेदन मंगाए गए थे। उसमें आवेदन करने वाले अभ्यर्थी की बात किया जाए तो इंजीनियर और पोस्ट ग्रेजुएट है। बता दें कि अब तक ऐसी परीक्षाओं का आयोजन छत्तीसगढ़ व्यवसायिक परीक्षा मंडल की ओर से किया जाता रहा है। पीएससी से होने वाली प्यून भर्ती परीक्षा में भी कड़े कंपीटिशन के आसार हैं, क्योंकि भर्ती के लिए न्यूनतम योग्यता आठवीं पास मांगी गई थी।

प्रदेशभर में चपरासी की भर्ती परीक्षा 25 को

लेकिन पता चला है कि इसमें ऐसे इंजीनियरिंग, एमएससी और पोस्ट ग्रेजुएट डिग्रीधारियों ने भी आवेदन कर दिया है, जो इससे बड़ी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं । और पहले भी ऐसे परीक्षा दे चुके हैं।यह परीक्षा 25 सितंबर को प्रदेश भर के विभिन्ना परीक्षा केन्द्र में होगा। इस परीक्षा को लेकर कवर्धा में भी सेंटर बनाया गया है। कवर्धा शहर में कुल 12 परीक्षा केन्द्र बनाए गए है। इन केन्द्र में चार हजार 667 अभ्यर्थी शामिल होंगे। यह परीक्षा एक रविवार को 12 से दो बजे तक होगी।

चपरासी भर्ती के 91 पोस्ट, प्रदेश भर से आए है लाखों आवेदन:

चपरासी भर्ती के 91 पोस्ट है। इसके लिए लाखों आवदेन आए हैं। वहीं परीक्षा को लेकर छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग (सीजीपीएससी) से तैयारी की जा रही है। यह पहला अवसर है, जब चतुर्थ श्रेणी की भर्ती परीक्षा पीएससी से आयोजित की जाएगी। शिक्षाविदों ने बताया कि यह पोस्ट प्यून के लिए है, लेकिन प्रतिस्पर्धा इसमें भी ज्यादा है। क्योंकि, इसके लिए बड़ी डिग्री वाले अभ्यर्थियों ने भी आवेदन किया है। इसी तरह पहले से राज्य सेवा परीक्षा व अन्य बड़ी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे ऐसे अभ्यर्थियों ने भी फार्म भरा है जो पिछले कुछ वर्षों से लगातार तैयारी में जुटे हैं।

सीजीपीएससी द्वारा जारी की गयी छत्तीसगढ़ चपरासी भर्ती 2022 अधिसूचना के मुताबिक आवेदन के इच्छुक उम्मीदवारों को आठवीं कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए। साथ ही, साईकिल चलाने का ज्ञान होना चाहिए। इसके अतिरिक्त उम्मीदवारों के शुद्धलेखन की परीक्षा होगा। उम्मीदवारों की आयु एक जनवरी 2022 को 18 वर्ष से कम और 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। छत्तीसगढ़ राज्य के निवासी उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष है। इसके अतिरिक्त राज्य के आरक्षित वर्गों के उम्मीदवारों को राज्य सरकार के नियमों के अनुसार अधिकतम आयु सीमा में छूट दी जाएगी।

चपरासी का पद भी मिल गया तो बेरोजगारी दूर होगी

यह परीक्षा 25 सितंबर को आयोजित की जाएगी। केवल आठवीं पास योग्यता वाली इस परीक्षा के लिए बड़ी एकेडमिक और तकनीकी डिग्री वाले युवा भी फार्म भरे है। बेरोजगार युवाओं का कहना है कि बड़ी संख्या में लोग नौकरी का इंतजार कर रहे हैं। उनको लगता है कि चपरासी का पद भी मिल गया तो उनकी बेरोजगारी दूर हो जाएगी। हालांकि इसमें एक तथ्य यह भी है कि ये आवेदन करने वालों में बड़ी संख्या उनकी भी है, जो अभी दूसरे पदों के लिए प्रतियोगी परीक्षाएं दे रहे हैं। ऐसे लोगों का मानना है कि यदि वे प्यून बन गए तो परीक्षा देने की आयु सीमा, सरकारी नौकरी होने के कारण बढ़ जाएगी और वे फिर ज्यादा बार बड़े पदों के लिए प्रयास कर सकेंगे।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close