कवर्धा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर व जिले में शांतिपूर्ण माहौल है, स्थिति नियंत्रण में है, जिससे त्योहारी चमक दिखने लगी है। प्रकाश का पर्व दीपावली के आने में करीब एक हफ्ते समय ही शेष रह गया है। घरों से लेकर बाजार तक दीपावली की रौनक दिखने लगी है। साफ-सफाई, सजावट, पोताई चल रही है तो कहीं त्योहारी शापिंग। कहीं घरों को दीपावली पर किस थीम पर सजाया जाए, क्या नया और क्या खास लाया जाए आदि की तैयारियां चल रही हैं। शहर में हुए दंगे के बाद प्रशासन ने दुकानों को लेकर छूट भी दी है। हालांकि धारा 144 लागू है, लेकिन बाजार में लोगों की भीड़ दिखाई पड़ रही है। शहर में सुरक्षा बल कम भी नहीं किया गया है। अभी भी रात्रि गश्त के अलावा शहर के विभिन्न हिस्सों में पुलिस टीम तैनात है। लोग शांति की अपील कर रहे हैं।

दीयों के साथ आकर्षक कैंडल बाजार में

दीपावली प्रकाश का उत्सव है। इस पर्व में दीपक सबसे ज्यादा आवश्यक है। दीपावली पर मिट्टी के दीये जगमगाने की परंपरा है लेकिन आजकल कई आकर्षक दीये बाजार में मिलने लगे हैं। फिर भी मिट्टी के दीयों का कोई तोड़ नहीं है। यही वजह है कि लोगों की पसंद को देखते हुए मिट्टी के दीये भी तरह-तरह की डिजाइन में मिल रहे हैं। मिट्टी के दीये तो परंपरा के अनुसार जलाते ही हैं लेकिन दीपावली पर सजावट के लिए उन्होंने कैंडल भी हैं। आजकल रंगीन कैंडल मिलती हैं जिन्हें जलाने पर तरह-तरह के रंगों के साथ वो जलती हैं जो देखने पर खूबसूरत लगती हैं। दीपावली पर सभी की कोशिश रहती है कि उनका घर सबसे सुंदर दिखे।

दंगा व कोरोना के कारण प्रभावित हुआ बाजार

पिछले साल कोरोना के चलते दीपावली पर बाजार कुछ सुस्त था। लेकिन इस साल शहर में हुए दंगे के कारण नुकसान हुआ। दीपावली पर पांच दिवसीय महापर्व की शुरुआत दो नवंबर को धनतेरस से होगी। तीन को नरक चतुर्दशी, चार को दीपावली होगी। पांच को गोवर्धन पूजा और छह को भैया दूज होगा। कार्तिक मास की अमावस्या को दीपावली का पर्व पड़ रहा है। सुबह 6.03 बजे से पर्व अमावस्या प्रारंभ हो जाएगी। पांच नवंबर को रात 2.44 बजे तक रहेगी। पांच दिवसीय महापर्व की तैयारियों में सभी जुट गए हैं। त्योहार को लेकर बाजार सजने लगे हैं। खासकर धनतेरस की तैयारियां शुरू हो गई हैं। शहर के मेन मार्केट में बर्तन के बाजार सज गए हैं। यहां पर स्टील, पीतल, तांबे आदि के बर्तन हैं। पूजन की थाल भी इस बार खास तरीके की आई है। दुकानदार तैयारियों में जुट गए हैं। इसी तरह आटो सेक्टर में भी ग्राहक पहुंच रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local